'धोनी के मुद्दे को ज्यादा तूल देने की जरूरत नहीं'

Media Passion

Media Passion

Author 2019-10-24 12:49:24

img

इंदौरबीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में के पदभार संभाल लिया है। इस बीच महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं। धोनी क्रिकेट से संन्यास लेंगे या अभी वह अपना इंटरनैशनल करियर जारी रखेंगे इस पर चयनकर्ताओं और नवनियुक्त अध्यक्ष सौरभ गांगुली से भी लगातार सवाल किए जा रहे हैं। इस बीच बीसीसीआई के पूर्व सचिव ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य के मसले को बात चीत के जरिए आसानी से हल किया जा सकता है।

जगदाले ने कहा, ‘गांगुली और चयनकर्ताओं को 38 वर्षीय इस विकेटकीपर बल्लेबाज से बात करनी चाहिए, ताकि मुद्दे को आसानी से हल किया जा सके। जगदाले ने कहा, ‘धोनी के भविष्य का मसला कोई बड़ा मुद्दा नहीं है और इसे ज्यादा तूल दिए जाने की जरूरत नहीं है। गांगुली और चयनकर्ता, धोनी से सीधे बात कर इस मुद्दे को आसानी से हल कर सकते हैं।’

पूर्व राष्ट्रीय चयनकर्ता ने कहा, ‘हर देश के बड़े क्रिकेटरों से बातचीत के जरिए ऐसे मसलों को सुलझा लिया जाता है।’ गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष की कमान संभालने को ‘अच्छी शुरुआत’ बताते हुए जगदाले ने कहा, ‘गांगुली को बीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में हालांकि केवल 10 महीने का कार्यकाल मिला है। लेकिन मुझे विश्वास है कि क्रिकेटर और खेल प्रशासक के तौर पर उनके विस्तृत अनुभव का भारतीय क्रिकेट को फायदा मिलेगा।’

नए बीसीसीआई अध्यक्ष के सामने मौजूद चुनौतियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि क्रिकेटरों की उम्दा पौध तैयार करने के लिए घरेलू क्रिकेट को बढ़ावा देते हुए देश भर में खेल के बुनियादी ढांचे में इजाफा जरूरी है।

उन्होंने कहा, ‘गांगुली ने बंगाल क्रिकेट संघ (CAB) के अध्यक्ष के तौर पर अच्छा काम किया है।’ इससे पहले, गांगुली ने बीसीसीआई की कमान संभालने के बाद बुधवार को कहा कि उन्हें नहीं पता कि धोनी अपने करियर के बारे में क्या सोच रहे हैं। बीसीसीआई के नए अध्यक्ष ने हालांकि भरोसा दिलाया कि धोनी सरीखे चोटी के खिलाड़ियों को पूरा सम्मान दिया जाएगा।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD