अब IPL में फोर्थ अंपायर की गिद्ध नजर से बचना क्यों नामुमकिन!

Rajexpress

Rajexpress

Author 2019-11-06 10:21:00

img

हाइलाइट्स :

  • IPL गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग में फैसला

  • घरेलू टूर्नामेंट्स में होगी अहम प्रस्ताव की टेस्टिंग

  • सैयद मुश्ताक अली T20 टूर्नामेंट, रणजी ट्रॉफी पर नज़र

राज एक्सप्रेस। “आजकल अंपायरों का रोल सिर्फ ओवर में गेंदों को गिनना मात्र रह गया है। हर बार रन आउट के निर्णय के लिए थर्ड अंपायर की ओर इशारा कर खुद मैदान में मात्र खड़े रहना। पूरी पैमेंट, बढ़िया जॉब।”

यह राय एक क्रिकेट फैन ने दुनिया में क्रिकेट के सबसे बड़े फैन क्लब बताए जाने वाले ईएसपीएनक्रिकइन्फो (@ESPNcricinfo) की वॉल पर जारी आईपीएल में एक्सक्लूसिव टीवी अंपायर की तैनाती से जुड़ी रिपोर्ट पर ज़ाहिर की है।

एक्सक्लूसिव अंपायर :

जी हां खबर तो यही है कि इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के T20-2020 एडीशन को ऑर्गनाइज़र्स कुछ खास बनाना चाहते हैं। क्रिकेट डाटा मास्टर ESPNcricinfo की रिपोर्ट के मुताबिक IPL के अगले सत्र में एक्सक्लूसिव टेलिविजन अंपायर (TV UMPIRE) नो बॉल की मॉनीटरिंग करते देखा जा सकता है।

एक्सक्लूसिव अंपायर- जी हां खबर तो यही है कि, इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के T20-2020 एडीशन को ऑर्गनाइज़र्स कुछ खास बनाना चाहते हैं। क्रिकेट डाटा मास्टर ESPNcricinfo की रिपोर्ट के मुताबिक IPL के अगले सत्र में एक्सक्लूसिव टेलिविजन अंपायर (TV UMPIRE) नो बॉल की मॉनीटरिंग करते देखा जा सकता है।

फैसला इसलिए :

नवगठित आईपीएल प्रशासकीय परिषद ने मैदान में अंपायरिंग के दौरान निर्णयों में गलतियों से बचने के लिए तकनीक का सहारा लेने का निर्णय लिया है। मंगलवार को भूतपूर्व भारतीय बल्लेबाज ब्रजेश पटेल की अध्यक्षता में IPL गवर्निंग परिषद की मुंबई में हुई मीटिंग में इस बारे में तकनीकी पहलुओं पर चर्चा हुई।

यहां होगी टेस्टिंग :

सूत्र बताते हैं, आईपीएल 2020 में इसे लागू करने से पहले अतिरिक्त अंपायर के तकनीकी पक्ष को घरेलू टूर्नामेंट्स में प्रयोग के तौर पर आजमाया जाएगा। संभावना है कि, सैयद मुश्ताक अली T20 टूर्नामेंट से इसका आगाज हो सकता है या फिर रणजी ट्रॉफी में इस पर विचार किया जाएगा।

DRS शुरू :

पिछले कई आईपीएल सत्रों से अंपायरिंग मानकों पर विचार करने करने के पैरवी करने वाले खिलाड़ियों और टीमों ने इस प्रयोग के निर्णय का स्वागत किया है। गौरतलब है लंबी चर्चाओं के उपरांत ही 2018 टूर्नामेंट में डीआरएस की शुरूआत हुई।

जब चढ़ा धोनी का पारा :

आईपीएल 2019 में भारत के दो सबसे वरिष्ठ खिलाड़ियों कैप्टन मिस्टर कूल महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली ने विवादास्पद नो-बॉल निर्णयों के मामले में अपने-अपने, अलग-अलग मैचों में मैच ऑफिसियल्स को आड़े हाथ लिया।

दरअसल कोहली लसिथ मलिंगा के नो बॉल वाले अंपायर के निर्णय से बीते सत्र में काफी खिन्न नजर आए थे। अंपायर नाइजल लॉन्ग से तो उनकी तकरार के कई दिन चर्चे भी छिड़े थे। इसी तरह कैप्टन कूल ने तो अपने नेचर से परे जाकर अंपायर के निर्णय के खिलाफ खेल तक रुकवा दिया और नो बॉल डिसीजन की समीक्षा करने कहा था।

गंधे से थे नाराज :

दरअसल जयपुर में खेले गए चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स मैच में अम्पायर उल्हास गंधे के नो-बॉल के विवादित निर्णय का धोनी ने विरोध किया था। देश के दिग्गज कप्तानों के द्वारा जताई गई इस चिंता से निपटने के लिए ही लगता है इस बार आईपीएल पहले से इंतजामात में जुट गया है।

गंधे से थे नाराज :

दरअसल जयपुर में खेले गए चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स मैच में अम्पायर उल्हास गंधे के नो-बॉल के विवादित निर्णय का धोनी ने विरोध किया था। देश के दिग्गज कप्तानों के द्वारा जताई गई इस चिंता से निपटने के लिए ही लगता है इस बार आईपीएल पहले से इंतजामात में जुट गया है।

आईसीसी इसके पहले कुछ सीमित ओवरों की श्रृंखला में इसे आजमा चुका है। काफी पहले इंग्लैंड-पाकिस्तान एक दिवसीय श्रृंखला में भी इस प्रयोग की टेस्टिंग हो चुकी है। इसलिए इसे आईपीएल का अभिनव प्रयोग नहीं कहा जा सकता।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD