अश्विन और जडेजा के हाथ में है भारत की जीत की चाबी

Manish Jain Agra

Manish Jain Agra

Author 2019-10-06 03:50:50

imgThird party image reference

वर्तमान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापट्टनम टेस्ट में भारत ने विपक्षियों को 395 रन का लक्ष्य जीत के लिए दिया है। एक विकेट खोकर 11 रन दक्षिण अफ्रीका की टीम बना भी चुकी है। पहली पारी के टॉप स्कोरर रहे डीन एल्गर की सस्ते में विदाई भारतीय खेमे को सुकून देने वाली है लेकिन बेजान पिच पर एक दिन में दक्षिण अफ्रीका की उस टीम के बाकी नौ विकेट निकालना भारत के लिए भी आसान नहीं होगा, जिस टीम ने पहली पारी में 431 रन का स्कोर बनाया हो।

imgThird party image reference

टेस्ट मैच के चार दिनों के खेल में तेज गेदबाजों के लिए पिच से कोई मदद मिलती नहीं दिखाई दी है। बल्लेबाजों का ही पूरे चार दिन इस टेस्ट मैच में बोलबाला रहा है। हांलाकि भारत के फिरकी स्टार रविचंद्रन अश्विन ने दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी में सात विकेट लिए लेकिन वो अश्विन का अपना कौशल ज्यादा माना जा सकता है क्योंकि उनके पास विविधता से पूर्ण कई प्रकार की गेंदबाजी के पहलू मौजूद हैं जो बल्लेबाज को गलती करने के लिए मजबूर करते हैं।

imgThird party image reference

विकेट पर स्पिन गेंदबाजी की धज्जियां किस प्रकार उड़ी हैं यह दक्षिण अफ्रीका के प्रमुख स्पिन गेंदबाज के केशव महाराज के गेंदबाजी विश्लेषण से जाना जा सकता है कि उन्होंने दोनों पारियों में भारतीय बल्लेबाजों के खिलाफ कुल 317 रन देकर नया कीर्तिमान बना दिया।

imgThird party image reference

रविन्द्र जडेजा की गेंद धीमी गति से आती है और स्पिन गेंदबाजी में भी धीमी गेंदबाजी ही उनका अस्त्र रहा है।

भारत को जीत के लिए अपने इन्हीं दोनों गेंदबाजों पर विशेष रूप से निर्भर होना होगा।

अश्विन को जहां पहली पारी के प्रदर्शन का मनोवैज्ञानिक फायदा मिलेगा तो जडेजा को अपनी धीमी गति से दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों को उठाना होगा।

कुछ भी हो रोमांचक हो चुके टेस्ट मैच में पांचवें दिन का खेल बेहद रोमांचक होने की पूरी संभावना है।

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN