इस बार बारिश ने तोड़े विश्वकप इतिहास के सारे रिकॉर्ड्स

Asiaville

Asiaville

Author 2019-09-17 15:31:04

img

2003 के बाद विश्वकप में भारत और न्यूज़ीलैंड की टीम एक बार भी नहीं भिड़ी. 16 साल बाद आज जब ट्रेंट ब्रिज़ में भारत और न्यूज़ीलैंड की टीम उतरी, तो खिलाड़ियों से पहले मैदान में उतर चुके थे कवर्स. पिच ढंकी हुई थी. इंग्लैंड-वेल्स में हो रहे मौजूदा विश्वकप में इस तरह की तस्वीरें पहले भी कई बार देखने को मिल चुकी हैं. कई मैच बारिश के चलते बाधित हुईं, कई मैच रद्द करने पड़े.

दुनिया को पिछले 4 साल से इंतज़ार था क्रिकेट जगत के सबसे बड़े टूर्नामेंट ICC क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 का. लेकिन जब 30 मई से ये टूर्नामेंट शुरू हुआ, तब से लेकर अब तक दर्शकों के हाथ काफी निराशाएं लगी है. यह इसलिए नहीं है कि मुक़ाबले कांटे के नहीं हुए या बेकार खेल खेला गया, बल्कि इस मनोरंजन को किरकिरा करने के पीछे की वजह है इंग्लैंड और वेल्स का मौसम. भारत-न्यूज़ीलैंड मैच से पहले 3 मुकाबले बारिश की वजह से रद्द हुए.

img

मौसम विभाग ने पहले ही ट्रेंट ब्रिज में बारिश का अंदेशा जताया था. लिहाज़ा भारत-न्यूज़ीलैंड मैच पर पहले से ख़तरे के बादल मंडरा रहे थे. इंग्लैंड-वेल्स के इस मौसम की जानकारी होने के बावजूद ICC ने लीग मैचों में रिज़र्व दिन नहीं रखे हैं. कई मैचों में हो रही बारिश के बाद कई लोगों ने ICC से इस मुद्दे को लेकर सवाल भी उठाए, लेकिन ICC ने इस पर अपनी अजीब सफ़ाई पेश करते हुए मौसम को ही ज़िम्मेदार ठहरा दिया.

वहीं, ICC के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने सफ़ाई में कहा कि ग्रुप स्टेज के सभी मैचों में आरक्षित दिन रखना संभव नहीं होगा क्योंकि इससे न केवल वर्ल्ड कप का शेड्यूल आगे खिसकेगा, बल्कि सभी लोगों को इससे परेशानी होगी.

11 जून को श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच खेले जाना वाला मैच बारिश की वजह से रद्द करना पड़ा था. यह इस टूर्नामेंट का तीसरा ऐसा मैच था जो बारिश की वजह से पूरी तरह धुल गया. इस मैच के साथ ही इस वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा मुक़ाबले रद्द होने का रिकॉर्ड भी बना. इससे पहले किसी भी विश्वकप में तीन मैच बारिश की वजह से रद्द नहीं हुए थे.

img

2019 के विश्वकप में ब्रिस्टल में श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच का मुक़ाबला और साउथैंपटन में वेस्ट इंडीज़-दक्षिण अफ्रीका के बीच का मैच बारिश की भेंट चढ़ गए. कुछ मैचों का फ़ैसला डकवर्थ लुइस नियम भी हुआ. यानी बारिश का प्रकोप लीग राउंड के कई मैचों पर पड़ा है.

ICC जहां टूर्नामेंट के शेड्यूल का हवाला दे रही है, वहीं मैच प्रशंसकों को लगता है कि भले ही टूर्नामेंट आगे बढ़ाना पड़े, लेकिन मैच तो कम से कम खेले जाएं. वेस्ट इंडीज और दक्षिण अफ्रीका के बीच मैच तो शुरू हुआ था, 7.3 ओवर का खेल भी हुआ, लेकिन बारिश ने फिर से टंगड़ी मारी और मैच रद्द.

img

विश्वकप इतिहास में 2019 से पहले बारिश के चलते सिर्फ़ दो मैच ही रद्द हुए थे. एक 1979 में और दूसरा 2015 में. इस बार अब तक 3 मैच रद्द हो चुके हैं और आसार ऐसे लग रहे हैं कि ये संख्या अभी और बढ़ेगी.

बारिश का सबसे ज़्यादा असर पड़ा है श्रीलंका के मैचों में. अब तक रद्द हुए 5 में से 3 मैचों में एक टीम श्रीलंका रही है. दो तो इसी विश्वकप में औऱ तीसरा 1979 के विश्वकप में. उस वक़्त श्रीलंका का मुक़ाबला वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ होना था. एक ज़माना था जब खेल आयोजकों के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता था दर्शकों का मनोरंजन. लेकिन इस वर्ल्ड कप में उसी को नज़रअंदाज़ किया गया है.

(हमें फ़ेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो करें)

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN