किसानों के खेत बने क्रिकेट ग्राउंड, ऐसे कमा रहे हैं मुनाफा

NEWS IND TAK

NEWS IND TAK

Author 2019-09-26 02:09:28

गुरुग्राम एक ऐसा गाँव है जिसे 'क्रिकेट मैदानों की सदी' के रूप में भी जाना जाता है। यहाँ के एक किसान ने अपनी इच्छा के बल पर पूरे गाँव की किस्मत बदल दी। आज इस गाँव में 100 से अधिक उच्च गुणवत्ता वाले क्रिकेट मैदान हैं। वह जमीन जो कभी बंजर खेत हुआ करती थी, आज लाखों में किसानों को मुनाफा दे रही है। आज यह भूमि गाँव के आसपास के लोगों और छात्रों को रोजगार दे रही है, साथ ही हजारों युवाओं के सपने क्रिकेट खेलने के ज़िंदा हैं।

imgThird party image reference

वह चाल जिसने किसानों की किस्मत बदल दी

गुरुग्राम के कई किसानों ने अपने खेतों को उच्च गुणवत्ता वाले क्रिकेट मैदान में बदल दिया है। पानी की कमी, और शुष्क मौसम के कारण भूमि बंजर हो गई थी। ऐसी भूमि से गेहूं या सरसों का उत्पादन करना मुश्किल था। उन दिनों गुरुग्राम में क्रिकेट का क्रेज बढ़ता जा रहा था, जिसके कारण किसानों ने मिलकर एक अनोखा बिजनेस आइडिया खोजा। उन्होंने क्रिकेट खेलने के लिए अपने खेत यहां कॉर्पोरेट कर्मचारियों को देना शुरू किया। क्योंकि यह मैदान गुड़गांव के सुल्तानपुर, फरुखनगर रोड पर स्थित बड़े आईटी हब के बीच में है, इस वजह से यहां हर रोज क्रिकेट बुक किया जाता है।

लाखों में मुनाफा इस तरह शुरू हुआ

imgThird party image reference

इन आधारों के लिए किसान 3,20,000 रुपये में अपनी ज़मीन पट्टे पर देते हैं। किसान इससे लाभान्वित होते हैं, लेकिन साथ ही, आस-पास के क्षेत्रों में रहने वाले मजदूरों को भी यहाँ काम मिलता है। एक ग्राउंड पर कम से कम 20-25 लोगों को काम मिलता है। कुछ छात्र ऐसे भी हैं जो कैंटीन चलाते हैं, वे भी यहाँ कमाते हैं। शुरुआत में, केवल 3 मैदान बनाए गए थे, बाद में उनकी संख्या बढ़कर 100 से अधिक हो गई। ये ग्राउंडस्पे 3 मैच हर दिन खेले जाते हैं। प्रत्येक टीम को खेलने के लिए लगभग 3 से 5 हजार का किराया देना पड़ता है।

एक मैच से 10-12 हजार रुपये तक कमाए जाते हैं। उस हिसाब से हर दिन 24 से 30 हजार की कमाई होती है। इसके अलावा, दिन-रात के मैच रेंट और भी महंगे हैं। इस सब से एकत्र की गई राशि में अंपायरों की फीस, स्टंप, गेंद जैसी सामग्री खर्च होती है। इसके साथ ही, कॉलेज के छात्र सप्ताहांत में यहाँ कैंटीन चलाते हैं, जहाँ से वे कमाते हैं।

ऐसे मैदान की मांग बढ़ने लगी

imgThird party image reference

टर्फ स्पोर्ट्स मैनेजमेंट के मालिक और अनुभवी मैच आयोजकों में से एक सचिन खुराना कहते हैं, "पिछले कुछ वर्षों में अच्छे क्रिकेट मैदानों की मांग बढ़ी है। कई पूर्व क्रिकेटर हैं, जो सोचते हैं कि लीज़ पर जमीन लेना और बनाना आसान है। इससे पैसा। आप पैसे कमाने के लिए सिर्फ एक जमीन पर निर्भर नहीं हैं। हम क्रिकेट अकादमी भी चलाते हैं और कई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टूर्नामेंट आयोजित करते हैं।

ये आधार बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी को आकर्षित करते हैं, जो अपने दैनिक कार्य या अकादमी से अवकाश चाहते हैं। यह क्रिकेट प्रेमियों के लिए बहुत खुशी की बात है क्योंकि उन्हें बहुत ही कम कीमत पर ऐसे शानदार मैदान पर खेलने को मिलता है। इसके साथ अन्य सभी सुविधाएं जैसे खेल का सामान, फ्लडलाइट्स, शावर, कैंटीन भी उपलब्ध हैं जो एक खिलाड़ी के लिए आवश्यक हैं। इसे शुरू करने से पहले, ये मैदान बिना सुविधा के बंजर भूमि हुआ करते थे। यही वह जगह है जहां आय गांव के किसानों के लिए एक स्रोत बन गई है।

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN