गांगुली का डे-नाइट टेस्ट मैच के सपनें पर सचिन का ये है 'शक'

Sanjeevni Today

Sanjeevni Today

Author 2019-11-01 03:36:00

  1. img

कोलकाता के ईडन गार्डन में होने जा रहे देश के पहले डे-नाइट टेस्ट को लेकर काफी रोमांचित हैं और उन्होंने उम्मीद जताई है कि टीम इंडिया इस मैच में भी 60 अंक हासिल करेगी। लेकिन भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर ने मैच की सफलता दो लेकर एक शंका जताई है।

नई दिल्ली। भारतीय टीम पहले डे नाइट टेस्ट मैच के आयोजन के लिए तैयार है। भारत के सलामी बल्लेबाज़ रोहित शर्मा बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन में होने जा रहे देश के पहले डे-नाइट टेस्ट को लेकर काफी रोमांचित हैं और उन्होंने उम्मीद जताई है कि टीम इंडिया इस मैच में भी 60 अंक हासिल करेगी। लेकिन भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर ने मैच की सफलता दो लेकर एक शंका जताई है।

यह भी पढ़े:दिल्ली में तय कार्यक्रम पर होगा पहला टी-20: गांगुली

img

भारतीय टीम का डे-नाइट टेस्ट मैच गांगुली का एक सपना है, जो कोलकाता के इडेन गार्डन्स पर भारत और बांग्लादेश के बीच 22 से 26 नवंबर को कोलकाता में यह मैच खेला जाना है। इस पर सचिन ने कहा कि इस टेस्ट मैच की सफलता इस बात पर निर्भर करेगी कि कोलकाता के इडेन गार्डन्स पर ओस से कैसा निपटा जाता है। सचिन ने डे नाइट टेस्ट मैच कराए जाने के फैसले का स्वागत किया, उन्होंने कहा, "जब तक इस मैच में ड्यू फैक्टर नहीं आता तो यह एक बहुत ही अच्छा फैसला है।

img

गेंद पर ड्यू फैक्टर के असर के बारे में सचिन ने कहा, अगर ड्यू फैक्टर इस मैच में आता है तो फिर तेज गेंदबाज और स्पिनर दोनों को चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। क्योकि "एक बार जब गेंद ओस की वजह से भीग जाएगा तो फिर ना तेज गेंदबाज ज्यादा कुछ कर पाएंगे और ना ही स्पिनर। ऐसा स्थिति में गेंदबाजों को कड़े इम्तिहान से गुजरना पड़ेगा। अगर जो ड्यू नहीं होता है तो पक्का ही मैच में अलग रोमांच होगा।" "मुझे लगता है कि ड्यू फैक्टर यहां पर एक बड़ी भूमिका अदा करेगी।

img

सचिन ने दर्शकों को स्टेडियम को मैदान पर खींचने के लिए बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली द्वारा लिया गया सही विचार बताया। सचिन का कहना था, "इसको देखने के दो तरीके हैं। एक दर्शकों के दृष्टिकोण से होगा, यह एक अच्छा कॉन्सेप्ट है और लोगों को ऑफिस में काम करने के बाद डे नाइट टेस्ट मैच देखने का मौका मिलेगा, लोग शाम को आकर मैच का मजा उठा सकते हैं।" "दूसरा खिलाड़ियों के दृष्टिकोण का होगा कि पिंक बॉल से खेलने का विचार गलत नहीं है, इससे यह पता चल जाएगा कि यह पारंपरिक लाल गेंद के मुकाबले कैसा व्यवहार करती है। यह पिंक बॉल को आपके पास आने देने का मौका होगा।"

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN