गांगुली का बदला, अब रवि शास्त्री की खैर नहीं..!

Talentedindia

Talentedindia

Author 2019-10-17 14:44:01

img

सौरव गांगुली बीसीसीआई (BCCI) के नए अध्यक्ष के तौर पर 23 अक्टूबर को अपना कार्यभार संभालेंगे| अध्यक्ष बनने से पहले उन्होंने वादा किया है कि वे बड़े-बड़े बदलाव करेंगे| 91 साल के इतिहास में पहली बार कोई अध्यक्ष ऐसा बना है, जिसे 400 से ज़्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का अनुभव है| गांगुली को भारतीय टीम के इतिहास में एक ऐसे कप्तान के तौर पर माना जाता है, जन्होंने टीम इंडिया के तेवर बदल दिए थे और पूरी टीम को आत्मविश्वास से भर दिया था| यही वजह है कि गांगुली से लोग काफी उम्मीदें कर रहे हैं|

img

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की ख़ास बात यह है कि वह बदला जरूर लेते हैं| वह अपना पुराना हिसाब हमेशा बराबर करते हैं| अब उनकी निगाहें टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री पर होंगी| यह बात हम सभी जानते हैं कि रवि शास्त्री से गांगुली की बनती नहीं है| गांगुली, रवि शास्त्री को कोच बनाने के पक्ष में नहीं थे| अब जब गांगुली बीसीसीआई के नए अध्यक्ष होंगे तो वे कोच से भारत की हर जीत और हार पर सवाल करेंगे| गांगुली के अध्यक्ष रहते शास्त्री की डगर थोड़ी कठिन होने वाली है|

img

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) विश्व कप 2019 के बाद से टीम से बाहर चल रहे हैं| इस बारे में मीडिया ने गांगुली से सवाल पूछा, जिस पर उन्होंने कहा कि वह धोनी से बात करेंगे| मैं अभी बीसीसीआई अध्यक्ष बना ही हूं| मुझे थोड़ा वक्त दीजिए| गांगुली से फिर पूछा गया कि क्या वह रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) से इस बारे में बात करेंगे, तो उन्होंने मुस्कुराते हुए दो-टूक कहा, “क्यों? रवि शास्‍त्री ने अब क्या कर दिया?”

img

वहीं जब गांगुली से पूछा गया कि कपिल देव की अध्यक्षता वाले पैनल की वैधता पर सवाल उठाए जाने के बाद क्या हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) की नियुक्ति पर चर्चा की जाएगी तो उन्होंने इससे इनकार कर दिया| गांगुली ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि इससे रवि शास्त्री के चयन पर असर पड़ेगा| हालांकि मैं किसी चीज को लेकर तय नहीं हूं| हमने तब भी कोच का चयन किया जबकि हितों के टकराव का मुद्दा था|”

-Hriday Kumar

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD