गांगुली ही चाहिए थे बॉस

Divya Himachal

Divya Himachal

Author 2019-10-27 02:37:58

दादा के बीसीसीआई चीफ बनने पर कोच शास्त्री का बयान

नई दिल्ली – भारतीय क्रिकेट टीम के प्रमुख कोच रवि शास्त्री ने कहा है कि राष्ट्रीय क्रिकेट के साथ लंबा और सफल अनुभव रखने वाले सौरभ गांगुली की बतौर बीसीसीआई अध्यक्ष नियुक्ति सही दिशा में उठाया गया कदम है। शास्त्री ने कहा, मैं गांगुली को बीसीसीआई अध्यक्ष चुने जाने पर दिल से बधाई देना चाहता हूं। उनकी नियुक्ति भारतीय क्रिकेट के लिए सही दिशा में उठाया गया कदम है। पूर्व कप्तान गांगुली को हाल ही में निर्विरोध भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का नया अध्यक्ष चुना गया था। बोर्ड का संचालन कर रही सर्वाेच्च न्यायालय द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति के 33 महीने के कार्यकाल के बाद अब बोर्ड की कमान गांगुली के हाथों में सौंपी गई है। कोच शास्त्री ने कहा, गांगुली में बेहतरीन नेतृत्व क्षमता है और वह पिछले काफी समय से क्रिकेट प्रशासन में रह चुके हैं। उनका बोर्ड में अध्यक्ष बनना हर मायने में क्रिकेट के लिए फायदेमंद होगा। बोर्ड के लिए मौजूदा समय मुश्किलभरा है और बीसीसीआई को वापस मजबूत बनाने के लिए काफी काम करने की जरूरत है। मैं उन्हें भविष्य के लिए अपनी शुभकामनाएं देता हूं। शास्त्री ने माना कि गांगुली की अध्यक्षता में बीसीसीआई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद से अपने रूके हुए भुगतान को भी हासिल कर पाएगा।

नेशनल क्रिकेट अकादमी को सुधारें

कोलकाता – टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि सौरव गांगुली को बतौर बीसीसीआई अध्यक्ष नेशनल क्रिकेट अकादमी के सुधार पर फोकस करना चाहिए। मध्यक्रम के इस पूर्व बल्लेबाज के मुताबिक, एनसीए को रिहैबिलेटेशन सेंटर ही नहीं रहना चाहिए। यहां भारतीय क्रिकेट का भविष्य यानी युवाओं को निखारने पर फोकस होना चाहिए। लक्ष्मण ने कहा कि गांगुली प्रशासक के तौर पर भी कामयाब साबित होंगे।

जो जूते के फीते नहीं बांध सकते, वे धोनी पर बोल रहे

मुंबई – भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री का मानना है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में सौरभ गांगुली की नियुक्ति भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाने की दिशा में एक सही कदम है। शास्त्री ने साथ ही महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य को लेकर उन पर सवाल उठाने वालों की भी आलोचना की। शास्त्री ने एक मीडिया इंटरव्यू में कहा, बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के लिए मैं सौरभ को दिल से बधाई देता हूं। उनकी नियुक्ति भारतीय क्रिकेट को सही दिशा में आगे ले जाने के लिए एक बड़ा संकेत है। उन्होंने कहा, वह हमेशा से ही एक स्वाभाविक नेता रहे हैं। उनके जैसा शख्स इस पद के लिए सही है। उन्होंने इससे पहले बंगाल क्रिकेट संघ को भी चार-पांच साल तक बतौर अध्यक्ष अपनी सेवाएं दी हैं। अब बीसीसीआई के अध्यक्ष के तौर पर उनका चयन होना भारतीय क्रिकेट के लिए सही कदम है। मुख्य कोच ने साथ ही कहा, भारतीय क्रिकेट बोर्ड के लिए ये समय बड़ा परेशानी भरा था। उनको बीसीसीआइ को फिर से विशाल बनाने के लिए बहुत मेहनत करनी होगी। गांगुली ने हाल ही में हितों के टकराव की वजह से शास्त्री के दोबारा इंटरव्यू देने की जरूरत को खारिज करते हुए कहा था कि इसकी जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा, धोनी पर बोलने वालों में से आधे लोग अपने जूतों के फीते तक सही से नहीं बांध सकते। देखिए उन्होंने देश के लिए क्या उपलब्धियां हासिल की हैं। लोग इतनी जल्दी में क्यों हैं कि वह अब संन्यास ले लें। शायद उनके पास बात करने के लिए कोई और मुद्दा नहीं है।

The post गांगुली ही चाहिए थे बॉस appeared first on Divya Himachal: No. 1 in Himachal news - News - Hindi news - Himachal news - latest Himachal news.

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD