जनपद में 72 हजार लोगों की स्क्रीनिंग हुई, 23 क्षयरोगी मिले

LiveHindustan

LiveHindustan

Author 2019-10-14 02:05:40

img

जनपद को क्षयरोग मुक्त बनाने के लिए संभावित क्षयरोगी खोज अभियान दस अक्तूबर से चल रहा है। अभियान में घर-घर जा रही टीमें लोगों से क्षयरोगियों की जानकारी कर रही है। तीन दिन में टीमों ने एटा, सकीट, अवागढ़ क्षेत्र में 70 हजार से अधिक लोगों को स्क्रीनिंग कार्य पूरा किया है।

डीआईओ डा. सीएल यादव, जिला पीपीएम कोर्डिनेटर आशीष पाराशरी ने बताया कि तीन दिन में 80 टीमों ने घर-घर जाकर 72411 लोगों की स्क्रीनिंग का कार्य किया है। उसमें टीमों को 571 संभावित क्षयरोगी मिले। जिनके लक्षणों के आधार पर 23 की बलगम जांच कराई गई। जिनको क्षयरोग होने की पुष्टि हुई है। 23 लोगों को क्षयरोग की पुष्टि होने के बाद ही उनका उपचार शुरू कर दिया गया है। साथ ही मरीजों को निश्चय योजना के तहत 500 रुपये की धनराशि उनके खाते में भेजी जानी शुरू कर दी गई है।

उन्होंने बताया कि संभावित क्षयरोगी खोजी अभियान 25 अक्तूबर तक निरंतर चलेगा। डीटीओ ने बताया कि यह अभियान उन क्षेत्रों में चलाया जा रहा है। जहां पर अधिक क्षयरोगी मिलने की संभावना है। इसलिए टीमों को घर-घर जाकर स्क्रीनिंग करने का कार्य सौंपा गया है। जहां से टीमें प्रतिदिन लोगों को सेम्पल लाकर सेंटर पर दे रही है। उनका प्रतिदिन परीक्षण किया जा रहा है। घर-घर स्क्रीनिंग करने के लिए 80 टीमों को लगाया गया है। सेंटरों पर आने वाले सेम्पल का प्रतिदिन जांच की जाती है। ताकि विलंब होने पर किसी तरह की आशंका न रहे। जांच कार्य के लिए कई टीवी एलटी को लगाया गया है। यह कार्य निरंतर 25 अक्तूबर तक चलेगा।

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN