टेनिस गेंद से स्पिन के गुर सीखने वाले रविचंद्रन अश्विन

Good Samachar

Good Samachar

Author 2019-09-17 14:34:14

img

टीम इंडिया के स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कभी टेनिस गेंद से स्पिन के गुर सीखे थे। अश्विन मंगलवार 33 साल के हो गए। उनका जन्म 17 सितंबर 1986 को मद्रास (अब चेन्नई) में हुआ था।

IPL से मिली अश्विन को पहचान

अश्विन की IPL से पहचान बनी थी। लंबे कद के इस गेंदबाज ने न सिर्फ चेन्नई सुपर किंग्स के आक्रमण की शुरुआत की, बल्कि डेथ ओवर्स में भी लगाया गया। साउथ अफ्रीका में खेली गई 2010 की चैम्पियंस लीग टी-20 में अश्विन 'मैन ऑफ द सीरीज' रहे। टी-20 में धारदार गेंदबाजी ने उन्हें भारतीय टीम में जगह दिला दी।

img

भज्जी के गिरते ग्राफ ने दिया अश्विन को मौका

जून 2010 में पहले तो वनडे में मौका मिला और उसके बाद नवंबर 2011 में टेस्ट क्रिकेट में भी डेब्यू कर लिया। अश्विन 2011 वर्ल्ड कप विजेता भारतीय स्क्वॉड में शामिल रहे, लेकिन हरभजन सिंह के रहते उन्हें ज्यादा मौके नहीं मिले, लेकिन अश्विन ने अपनी गेंदबाजी पर लगातार मेहनत की। आखिरकार हरभजन के प्रदर्शन के गिरते ग्राफ ने अश्विन को तवज्जो दिला दी।

अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट किया था धमाकेदार डेब्यू

अश्विन ने अपने डेब्यू टेस्ट में 9 (3/81, 6/47) विकेट चटकाए, जो नरेंद्र हिरवानी (8/61, 8/75) के बाद पदार्पण टेस्ट में किसी भारतीय बॉलर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी थी।

अश्विन ने भारतीय टीम में पदार्पण करते हुए 3 टेस्ट मैचों की सीरीज में (वेस्टइंडीज के खिलाफ) न सिर्फ 22 विकेट चटकाए, बल्कि अपने तीसरे ही टेस्ट में शतक (103 रन) भी जड़ दिया।

img

जब अश्विन पर भारी पड़ते गए जडेजा

जडेजा के पक्ष में एकमात्र कारण संभवतः उनकी निरंतरता मानी जा सकती है। पिछले साल दिसंबर में अश्विन के चोटिल होने की वजह से बाएं हाथ के स्पिनर जडेजा ने ऑस्ट्रेलिया में सीरीज के आखिरी दो टेस्ट (मेलबर्न और सिडनी) मैचे खेले थे।

मेलबर्न में जडेजा ने 25 ओवरों में केवल 45 रन दिए और दो विकेट झटके। दूसरी पारी में 32 ओवरों की गेंदबाजी में उन्होंने 3 विकेट चटकाए। और इसके बाद सिडनी में 32-11-73-2 के गेंदबाजी विश्लेषण के साथ सीरीज का समापन किया। वेस्टइंडीज सीरीज के दो टेस्ट मैचों में जडेजा ने कुल 6 विकेट चटकाए और बल्ले से एक अर्धशतक भी जमाया।

चैम्पियंस ट्रॉफी-2017 की नाकामी

दरअसल, चैम्पियंस ट्रॉफी-2017 में अश्विन और रवींद्र जडेजा की स्पिन जोड़ी कोई कमाल नहीं दिखा पाई थी। अश्विन उस टूर्नामेंट के दौरान तीन मैचों में सिर्फ एक विकेट ले पाए थे। और तो और फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ दोनों का प्रदर्शन बेहद खराब रहा था। दोनों ने 18 ओवरों में 137 रन दिए और एक भी विकेट नहीं मिला। इसके बाद से अश्विन को बुरा दौर शुरू हो गया, जबकि अश्विन वापसी करने में कामयाब रहे।

img

टेस्ट क्रिकेट में 300 विकेट का कारनामा

अश्विन ने नवंबर 2017 में टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 300 विकेट लेने का वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम किया। उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज डेनिस लिली को पछाड़ा। लिली ने 56 टेस्ट मैचों में 300 विकेट पूरे किए थे, जबकि अश्विन ने अपने 54वें टेस्ट में ही यह उपलब्धि हासिल की। इससे पहले अश्विन ने लिली को ही पीछे छोड़कर सबसे तेज 250 विकेट पूरे किए थे। अश्विन ने 45वें टेस्ट मैचों यह कारनामा किया था, जबकि लिली को ढाई सौ विकेट तक पहुंचने के लिए 48 टेस्ट मैच खेलने पड़े थे।

img

ICC क्रिकेटर ऑफ द ईयर

दिसंबर 2016 में अश्विन को ICC क्रिकेटर ऑफ द ईयर और टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर चुना गया। तब टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष गेंदबाज अश्विन ने ICC के वोटिंग अवधि 14 सितंबर 2015 से 20 सितंबर 2016 के दौरान 8 टेस्ट मैचों में 15.39 की औसत से 48 विकेट चटकाए थे। इसके अलावा बल्ले से 42 की औसत से 336 रन बटोरे थे। इस दौरान अश्विन ने 19 टी-20 इंटरनेशनल में 15.62 की औसत से 27 विकेट झटके।

अश्विन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज के 15 सदस्यीय भारतीय स्क्वॉड में शामिल हैं। लेकिन यह तय नहीं है कि उन्हें 2 अक्टूबर से शुरू हो रही टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया के अंतिम-11 खिलाड़ियों में मौका मिलेगा या नहीं। जिसका कारण है नवोदित ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर और लेग स्पिनर राहुल चाहर, जिसको कप्तान कोहली आजमाना चाहते हैं।

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN