डे-नाइट टेस्ट खेलने वाला है भारत, लेकिन ये होता कैसे है?

The Lallantop

The Lallantop

Author 2019-10-30 15:17:30

img

आज से ठीक सात साल पहले, 30 अक्टूबर 2012 को इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने डे-नाइट क्रिकेट टेस्ट को हरी झंडी दिखाई थी. तमाम ना-नुकुर के बाद अंततः भारत अब फ्लड लाइट के नीचे रंगीन बॉल से होने वाला क्रिकेट मैच खेलने को तैयार है. बांग्लादेश के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज का दूसरा टेस्ट डे-नाइट होगा.

बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली लंबे वक्त से इसकी वकालत कर रहे थे. बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) ने गांगुली की बात मान ली और कोलकाता में होने वाला टेस्ट गुलाबी बॉल से खेलने को तैयार हो गया. गांगुली ने मंगलवार, 29 अक्टूबर को कहा, ‘मैंने BCB प्रेसिडेंट नज़मुल हसन से बात की. वे तैयार हैं, वे प्लेयर्स से बात करना चाहते हैं. मैं श्योर हूं कि यह एक डे-नाइट मैच होगा. वे जल्दी ही इसे ऑफिशली अनाउंस कर देंगे.’

भारत के इस पहले डे-नाइट टेस्ट से पहले जानिए टेस्ट क्रिकेट के इस नए ट्विस्ट के बारे में सबकुछ.

# कितने मैच हुए

टेस्ट क्रिकेट की ओवरऑल हिस्ट्री में 2,000 से ज्यादा मैच खेले जा चुके हैं. लेकिन डे-नाइट टेस्ट की बात करें तो इनका अभी तक का आंकड़ा 15 है. पहला डे-नाइट टेस्ट 2015 में न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुआ था. भारत, बांग्लादेश, अफगानिस्तान और आयरलैंड ही ऐसे देश बचे हैं, जिन्होंने अब तक एक भी डे-नाइट टेस्ट नहीं खेला.

#बॉल की बात

पारंपरिक टेस्ट मैच लाल गेंद से खेला जाता है. लेकिन डे/नाइट टेस्ट में पिंक बॉल का प्रयोग होता है. रात में बॉल अच्छी तरह से दिखे इसके लिए इस कलर की बॉल का इस्तेमाल किया जाता है.

#एक दिन में कितने ओवर

डे-नाइट टेस्ट में भी आम टेस्ट की तरह एक दिन में 90 ओवर्स फेंके जाएंगे. यह 90 ओवर रेगुलर टेस्ट की तरह 6 घंटे के खेल में फेंकने होंगे.

#टी ब्रेक का सीन

रेगुलर टेस्ट में सबसे पहले 40 मिनट का लंच ब्रेक आता है. डे-नाइट टेस्ट में मामला अलग होगा. यहां पहले 20 मिनट का टी-ब्रेक होगा और उसके बाद 40 मिनट का सपर (SUPPER) इंटरवल. सपर शाम के वक्त किए जाने वाले हल्के भोजन/नाश्ते को कहते हैं.

#खेल के नियम

ICC के ताजा नियमों के मुताबिक डे-नाइट टेस्ट को आयोजित कराने से पहले विजिटिंग बोर्ड से एग्रीमेंट करना मस्ट है. इसके अलावा बॉल के ब्रांड, टाइप और कलर के लिए भी मेहमान बोर्ड से पहले अप्रूवल लेना होगा.

#टाइमिंग

डे-नाइट टेस्ट में खेल की शुरुआत 1:30 बजे से होगी और यह रात को 9 बजे खत्म होगा. टी ब्रेक 16:05 (शाम चार बजकर पांच मिनट पर) और सपर शाम छह बजकर 20 मिनट पर होगा. इन टेस्ट मैचों में हर दिन के डेढ़ सीजन फ्लड लाइट्स में खेले जाएंगे.

पांच दिनों के गेम में 200 से ज्यादा जबकि चार दिनों के गेम में 150 से ज्यादा की लीड लेने वाली टीम सामने वाली टीम को फॉलो-ऑन के लिए फोर्स कर सकती है. बाकी के फर्स्ट क्लास मैचों की तरह यहां भी 80 ओवर के बाद नई बॉल ली जा सकती है.

बांग्लादेश के ऑल राउंडर शाकिब अल हसन पर भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में लगा दो साल का बैन

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD