दोहरा शतक लगाने के बाद मयंक के परिवार ने मनाया जश्न

Sanjeevni Today

Sanjeevni Today

Author 2019-10-05 10:29:14

  1. img

अग्रवाल के ननिहाल मथुरा में जश्न का माहौल है।

मथुरा। विशाखपट्टनम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले जा रहे पहले क्रिकेट टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाले मयंक अग्रवाल के ननिहाल मथुरा में जश्न का माहौल है।

मयंक अग्रवाल के मामा सामाजिक कार्यकर्ता अनुज गर्ग ने मयंक की इस उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि उसने अपने माता-पिता का नाम तो रोशन किया ही है, साथ ही अपने ननिहाल को भी गौरव प्रदान किया है।

img

उन्होंने मयंक की इस उपलब्धि के पीछे बचपन से ही उसका क्रिकेट के लिए समर्पण एवं बांके बिहारी महाराज व द्वारकाधीश महाराज का आशीर्वाद बताया।

गर्ग का कहना था कि मयंक जब भी मथुरा आता है, वह दोनो मंदिरों में जाकर ठाकुर का आशीर्वाद लेना नहीं भूलता है। उन्होंने बताया कि इस बार जब भी वह मथुरा आएगा बांके बिहारी महाराज को दूध भात का भोग लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि मयंक की मां बबिता ठाकुर भी बिहारी जी महाराज की भक्त हैं।

img

बांकेबिहारी मंदिर वृन्दावन के राजभोग सेवायत आचार्य ज्ञानेन्द्र किशोर गोस्वामी ने बताया कि सामान्यतया ठाकुर बांके बिहारी का कृपा प्रसाद पाने की आकांक्षा में लोग ठाकुर जी को दूध भात यानी दूध चावल का भोग अर्पित करते हैं।

गर्ग ने बताया कि मयंक बचपन से ही क्रिकेट के लिए दीवाना था। यही कारण है कि 13 वर्ष की उम्र में जब वह बेंगलुरु के बिशप काटन ब्वायज स्कूल में पढता था, तभी उसका चयन देश की अन्डर-13 की टीम में हो गया था।

img

उसका 15 वर्ष की आयु माडर्न क्रिकेट क्लब में चयन हो गया था। उसने वहां भी धमाकेदार 150 रन बनाकर यह दिखा दिया था कि वह साधारण खिलाड़ी नहीं है। अपनी इसी उपलब्धि को आगे बढ़ाते हुए उसने 2018 में आस्ट्रेलिया में 77 रन बनाकर दिखा दिया कि उसके भविष्य में क्या छिपा है।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD