धोनी की बेहतरीन पारी के बाद आलोचनाओं पर लगा विराम

Asiaville

Asiaville

Author 2019-09-17 15:45:23

img

अफ़ग़ानिस्तान के ख़िलाफ़ अपनी धीमी बल्लेबाज़ी को लेकर बीते कुछ दिनों से एमएस धोनी आलोचनाओं का शिकार हुए. यहां तक कि सचिन तेंदुलकर ने भी उन्हें नहीं बख्शा. धीमा खेलने के चलते उनसे नाराजगी जाहिर की. लेकिन गुरुवार को वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ जब भारतीय पारी लड़खड़ा रही थी और एक के बाद एक विकेट गिर रहे थे, धोनी ने आकर नाबाद अर्धशतकीय पारी खेली और भारतीय टीम के स्कोर को 268 तक पहुंचाया.

तमाम आलोचनाओं के बाद अब सौरव गांगुली ने धोनी का बचाव किया और जमकर तारीफ़ भी की है. सौरव गांगुली का मानना है कि 113 टेस्ट और 311 वनडे मैच में भारत का प्रतिनिधत्व कर चुके धोनी की बल्लेबाज़ी में कोई समस्या नज़र नहीं आती है.

गांगुली ने कहा, “धोनी को इस तरह की स्थिति से कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए. जब वो पिछले साल इंग्लैंड आए थे तब भी उनके सामने ऐसी स्थिति बनी थी. उन्हें स्पिन गेंदबाज़ी के ख़िलाफ़ समस्या आती रही है. अगर धोनी को विराट कोहली, केएल राहुल या हार्दिक पांड्या जैसे बल्लेबाज़ों का साथ क्रिज़ पर मिले तो वो स्ट्राइक रोटेट करते रहेंगे और दूसरे छोर से बड़े शॉट्स लगाते जाएंगे.”

img

गांगुली ने कहा, “मैं धोनी के बारे में ज़्यादा बात नहीं करुंगा क्योंकि उनके पास बड़े शॉट्स खेलने और स्ट्राइक रोटेट करने की क्षमता है. उनके पास लंबा अनुभव है. वो बड़े शॉट्स और अलग तरह से खेलने की क्षमता रखते हैं. आगे के मुक़ाबलों में वो ज़रूर अच्छा करेंगे.”

यही नहीं वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ जीत के बाद कप्तान विराट कोहली ने भी धोनी की जमकर तारीफ़ की. भारतीय पारी को ख़त्म करने के अंदाज के बारे में विराट कोहली कहा, धोनी अच्छी तरह जानते हैं कि उन्हें मैदान के बीच क्या करना है. किसी भी खिलाड़ी का हर दिन अच्छा नहीं होता है, जब उनके साथ ऐसा हुआ तो सब उसके बारे में चर्चा करने लगे. उन्होंने हमारे लिए कई अहम मैच जीते हैं.

img

कोहली ने आगे कहा, “उनके जैसे खिलाड़ी के टीम में होने की सबसे अच्छी बात यह है कि वो ये बात बहुत अच्छी तरह से जानते हैं कि आख़िरी ओवरों में अतिरिक्त 15-20 रन कैसे बनाने हैं. ऐसे में 10 में से 8 बार धोनी का अनुभव हमारे लिए फायदेमंद होता है.”

कोहली का मानना है कि धोनी के पास अनुभव ज़्यादा है और खेल की गहरी समझ है. धोनी इस खेल के दिग्गज़ है और ये सब जानते हैं.

तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह ने भी मैच के बाद धोनी की तारीफ़ की. बुमराह ने कहा, “ये बहुत अंडर-रेटेड पारी होती है क्योंकि कभी-कभी लगता है कि वो धीमा खेल रहे हैं. वो अपना समय लेते हैं और ऐसे विकेट पर वक़्त लेना काफी ज़रूरी होता है. वो अपना समय लेकर आख़िर तक खेले और टीम की पारी को 268 रन तक पहुंचाया. हम माही भाई की वजह से 268 रनों तक पहुंच पाए. उनका अनुभव हमारे काम आता है. उनके अनुभव से युवा खिलाड़ी भी सीखते हैं.”

(हमें फ़ेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो करें)

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN