धोनी ने कहा मै भी अन्यो की तरह बस भावनाओ पर काबू करना बेहतर आता है।

Live-Update

Live-Update

Author 2019-10-18 17:22:06

जी हा , धोनी ने कहा है कि वो भी दूसरे लोगो के जैसे है बस भावनाओ पर काबू

अन्य लोगो से बेहतर रख सकता हूं , इसका मतलब ये बिलकुल भी नहीं है कि मुझे

अन्य लोगो के जैसे तेजी से भावनाए नहीं आती बल्कि इन भावनाओ को मै तुरंत नियंत्रित

कर लेता हूं ।

imgद इंडियन एक्सप्रेस

पूर्व कप्तान महिंद्र सिंह धोनी अपनी भावनाओ पर कैसे काबू किया जाता है उनको बिलकुल

अच्छे से पता है तभी तो कितनी भी मुश्किल की घडी क्यों न हो धोनी को हमेशा कूल ही देखा

गया है इसलिए इन्हे '' मिस्टर कूल '' भी कहा जाता है।

गुस्सा और निराशा रचनात्मक नहीं -

धोनी ने कहा , '' मै उतना ही निराश होता हूं। मुझे कई बार गुस्सा है , निराशा आती है लेकिन ये

सब रचनात्मक नहीं है। मैच के दौरान जो जरुरी है वो भावना किसी भी अन्य भावना से हमेशा

बड़ी है।

बड़ा टूर्नामेंट जीतना एक लक्ष्य होता है -

उन्होंने कहा, ‘आप एक टीम के रूप में जो हासिल करना चाहते हैं, वह टूर्नामेंट जीतना है, लेकिन ये एक दीर्घकालिक लक्ष्य है।'

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN