धोनी मानेंगे ICC का फ़ैसला, नहीं पहनेंगे ग्लव्स

Asiaville

Asiaville

Author 2019-09-17 15:39:19

img

महेंद्र सिंह धोनी के रेजिमेंटल डैगर वाले ग्लव्स पर आईसीसी के बाद अब बीसीसीआई ने भी अपना रुख साफ कर दिया है. सीओए प्रमुख विनोद राय ने कहा कि एमएस धोनी के ग्लव्स पर हमारा रुख बहुत स्पष्ट है, हम आईसीसी के मानदंडों के अनुरूप चलेंगे. हम किसी भी नियम के ख़िलाफ़ नहीं जाना चाहते हैं.

धोनी के रेजिमेंटल डैगर वाले ग्लव्स पिछले दो दिन से सुर्खियों में है. आईसीसी की ओर से आपत्ति किए जाने के बाद एक तरह से धोनी के ग्लव्स पर मुहिम छिड़ गई है. सोशल मीडिया पर धोनी के प्रशंसकों ने एक तरफ आईसीसी की खूब आलोचना की तो दूसरी तरफ धोनी की तारीफ़ और समर्थन में खड़े हो गए.

लेकिन आईसीसी अपने फ़ैसले पर अड़ी रही और उसने बीसीसीआई की अपील को भी ख़ारिज़ कर दिया. आईसीसी के मुताबिक विकेट कीपिंग ग्लव्स पर लोगो लगाने की इजाज़त नहीं है.

आईसीसी ने कहा था, “टूर्नामेंट के नियमों के अनुसार कपड़े या अन्य चीजों पर किसी भी निजी संदेश या लोगो को नहीं लगाया जा सकता है. इसके अलावा विकेटकीपिंग ग्लव्स पर बना लोगो तय नियमों के ख़िलाफ़ है.”

ऐसे में बीसीसीआई को आईसीसी के नियमों के आगे झुकना पड़ा. कल तक जिस बीसीसीआई का कहना था कि धोनी ने किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया है. आज वो खुद कह रही है कि हमारा रुख इस पर साफ है और हम आईसीसी के किसी नियम के ख़िलाफ़ नहीं जाएंगे.

दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ खेले गए भारत के मैच के दौरान धोनी के ग्लव्स पर ‘बलिदान बैज’ दिखा था. इस पर आईसीसी ने बीसीसीआई से कहा था कि वो धोनी से अपने ग्लव्स से चिन्ह हटाने को कहे.

वहीं सीओए विनोद राय ने धोनी का बचाव करते हुए आईसीसी से अपील की थी कि वह धोनी के ग्लव्स पर बने चिन्ह को बनाए रखने की इज़ाजत दे. सीओए का कहना था कि धोनी के ग्लव्स पर बना चिन्ह भारतीय सेना से जुड़ा नहीं है. इसलिए हम आईसीसी से अनुरोध करेंगे की इस चिन्ह को हटाने की ज़रूरत नहीं है. लेकिन अगर फिर भी आईसीसी को लगता है कि यह नियमों का उल्लंघन है तो हम इसकी इजाज़त ले लेंगे.

शुक्रवार को भारत में ट्विटर पर #DhoniKeepTheGlove और #IndiawithDhoni ट्रेंड करता रहा. खेल प्रशासन के साथ कुछ खिलाड़ी भी धोनी के ग्लव्स के पक्ष में रहे.

खेल मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि सरकार इस मामले में हस्तक्षेप नहीं कर सकती है. लेकिन जब मुद्दा देश भावनाओं से जुड़ी हो तो राष्ट्र हित को ध्यान में रखना चाहिए. किरण रिजिजू ने बीसीसीआई से अनुरोध किया कि वो इस बार में आईसीसी से बात करे.

उधर क्रिकेटर सुरेश रैना धोनी के समर्थन में आए और उन्होंने धोनी का स्पेशल फ़ोर्सेज़ के प्रतीक चिन्ह वाले ग्लव्स को पहनना देशभक्ति का प्रतीक बताया. उनका कहना है कि ये देशभक्ति का प्रतीक है, राष्ट्रवाद का नहीं.

लेकिन इन सारी कोशिशों और धोनी के प्रशंसकों के समर्थन के बावजूद धोनी अब रेजिमेंटल डैगर वाले ग्लव्स नहीं पहन सकते हैं.

(हमें फ़ेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो करें)

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN