निर्णायक मैच में ‘हीरे’ तलाशेगा भारत

Dainik Tribune Online

Dainik Tribune Online

Author 2019-11-10 13:45:13

img

नागपुर में शनिवार को बांग्लादेश से मैच की पूर्व संध्या पर अभ्यास सत्र में भाग लेते भारतीय खिलाड़ी। -प्रेट्र

नागपुर, 9 नवंबर (एजेंसी)
बांग्लादेश के खिलाफ रविवार को खेले जाने वाले तीसरे और आखिरी टी-20 मैच में भारतीय टीम की नजरें हीरे (अच्छे खिलाड़ी) तलाशने पर होंगी। टीम इंडिया को अगले साल टी-20 विश्व कप खेलना है और इसके लिए कोर खिलाड़ियों की पहचान टीम के लिए अहम मिशन है।
शृंखला के पहले 2 मैचों में शामिल लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने एक बार फिर साबित किया कि वह बीच के ओवरों में उनके पास विकेट निकालने की क्षमता है। राजकोट में खेले गये दूसरे टी-20 में चहल की अगुवाई में भारतीय गेंदबाजों ने बांग्लादेश को 6 विकेट पर 153 रन पर रोक दिया। फिर रही सही कसर कप्तान रोहित शर्मा ने 85 रन की ताबड़तोड़ पारी खेलकर पूरी कर दी।
चाइनामैच गेंदबाज कुलदीप यादव की जगह टीम में चुने गये वाशिंगटन सुंदर काफी किफायती रहे लेकिन विकेट चटकाने के मामले में चहल से पीछे छूट गये। तेज गेंदबाज खलील अहमद ने दोनों मैचों में रन लुटाये जिससे इस मैच शारदुल ठाकुर को अंतिम 11 में जगह मिल सकती है जो दीपक चाहर के साथ नयी गेंद साझा कर सकते हैं। रोहित ने पहले दोनों टी-20 मैचों की टीम में कोई बदलाव नहीं किया जिससे मनीष पांडे, संजू सैमसन और राहुल चाहर जैसे खिलाड़ी ड्रेंसिंग रूम में ही बैठे रहे। नागपुर में अगर उन्हें मौका नहीं मिला तो उन्हें खुद को साबित करने के लिए वेस्टइंडीज के खिलाफ आगामी टी-20 शृंखला का इंतजार करना होगा।

लोकेश प्रभाव छोड़ने में नाकाम
बल्लेबाजी विभाग में टीम के पास आस्ट्रेलिया और इंग्ालैंड की तरह बड़े शाट खेलने वाली खिलाड़ियों की कमी है। श्रेयस अय्यर ने कम समय में खुद को साबित किया है जबकि लोकेश राहुल अभी तक प्रभाव छोड़ने में नाकाम रहे हैं। नये हरफनमौला शिवम दुबे को भी अपनी प्रतिभा से न्याय करना होगा। अनुभवी शिखर धवन और युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत भी टीम में जगह बनाये रखने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। धवन बल्ले से जबकि पंत बल्ले के साथ विकेट के पीछे भी अपने खराब प्रदर्शन के कारण आलोचना झेल रहे है। दोनों खिलाड़ियों के पास आलोचकों को चुप करने का एक मौका होगा।

चौंका सकती है बांग्लादेश की टीम
भारतीय टीम जीत की दावेदार होगी लेकिन तमीम इकबाल और शाकिब अल हसन जैसे सीनियर खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में बांग्लादेश एक बार फिर दिल्ली की तरह चौका सकती है। राजकोट में दूसरे टी-20 में भी टीम को अच्छी शुरुआत मिली लेकिन वे इसका फायदा नहीं उठा सके और टीम 20 ओवर में सिर्फ 153 रन बना सकी।

महमूदुल्लाह की कप्तानी में धोनी की झलक : पठान
नयी दिल्ली। भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान का मानना है कि बांग्लादेश के कप्तान महमूदुल्लाह रियाद में महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी की झलक दिखती है। महमूदुल्लाह की अगुवाई में बांग्लादेश ने पहले टी-20 में भारत को हराया था। यह बांग्लादेश की भारत पर टी-20 में पहली जीत थी। पठान ने कहा, जब आप दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक के खिलाफ मैच जीतते हैं तो आपका आत्मविश्वास बढ़ता है।

img

नागपुर में शनिवार को अभ्यास सत्र में भाग लेने जाते ऋषभ पंत। -एएफपी

कृपया ऋषभ पंत को अकेला छोड़ दें : रोहित
नागपुर। कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा ने शनिवार को आलोचनाओं से घिरे ऋषभ पंत का समर्थन करते हुए आलोचकों से कहा कि उसे अकेला छोड़ दें क्योंकि वह सिर्फ टीम प्रबधंन की रणनीति पर अमल की कोशिश कर रहा है। कई मौकों पर पंत के शॉट सिलेक्शन की काफी आलोचना हुई है और राजकोट में बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टी-20 में उनकी खराब विकेटकीपिंग की भी आलोचना हुई। कप्तान रोहित ने बांग्लादेश के खिलाफ यहां टी20 सीरीज के निर्णायक मैच से पूर्व कहा, ‘हर दिन, हर मिनट ऋषभ पंत के बारे में काफी चर्चा चल रही है। मुझे यही लगता है कि उसे वही करने देना चाहिए जो वह मैदान पर करना चाहता है। मैं हर किसी से अनुरोध करूंगा कि कुछ समय के लिए ऋषभ पंत से निगाहें हटा लीजिए।’

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN