पहले से ही पिंक गेंद के समर्थक रहे हैं गांगुली

Hindustanvarta

Hindustanvarta

Author 2019-10-30 11:31:21

img

टीम इंडिया का कोलकाता के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में अपना पहला दिन-रात का टेस्ट मैच (Day-Night test) खेलना है। 22 नवम्बर से होने वाले इस मैच में एसजी पिंक बॉल का उपयोग होना है। इतने कम समय में बीसीसीआई पर्याप्त गेंदों की व्यवस्था कैसे सकेगी यह भी एक सवाल है लेकिन बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कंपनी से बोला है कि वह अगले 10 दिनों में पर्याप्त संख्या में पिंक बॉल तैयार कर ले।

अभ्यास मैच के लिए भी चाहिए गेंदें
मंगलवार को ही बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने हिंदुस्तान के साथ कोलकाता में पहले दिन-रात के टेस्ट मैच को हरी झंडी दी व इसी दिन बोर्ड अधिकारियों ने एसजी कम्पनी के अधिकारियों से बात कर उन्हें अतिशीघ्र पर्याप्त संख्या में पिंक बॉल तैयार करने को कहा, जिससे कि दोनों टीमों को एक्सरसाइज करने में कोई परेशानी ना हो। दोनों ही टीमें पहली बार डे-नाइट टेस्ट मैच खेल रही हैं।

एक टीम बनाई है गांगुली ने
एक सूत्र ने कहा, "हां, अध्यक्ष ने एक टीम बनाई है, जो एसजी कम्पनी के साथ तालमेल बनाए रखेगी। अध्यक्ष चाहते हैं कि अगले 10 दिनों में पर्याप्त संख्या में पिंक बॉल तैयार हो जाए, जिससे कि दोनों टीमों को एक्सरसाइज करने में कोई परेशानी ना हो। " बीसीसीआई के एक ऑफिसर ने बोला कि असल चैलेंज को अंपायरों को सब्सीट्यूट बॉल देने की होगी।

अगर सबा करीम ने दिया होता बढ़ावा
ऑफिसर ने कहा, "अगर बीसीसीआई जीएम (क्रिकेट आपरेशंस) सबी करीम ने घरेलू मैचों में पिंक बॉल के उपयोग पर बल दिया होता तो फिर आज हमें सब्सीट्यूट बॉल्स की कमी नहीं होती। हम रणजी ट्रॉफी, ईरानी ट्रॉफी जैसे आयोजनों में पिंक बॉल का प्रयोग कर सकते थे। इस सम्बंध में गांगुली ने बहुत ज्यादा पहले कोशिश किया था लेकिन इसके बाद कोई विकास नहीं हुआ व आज हम दोराहे पर खड़े हैं। "

पहले से ही पिंक गेंद के समर्थक रहे हैं गांगुली
उल्लेखनीय है कि गांगुली ने हमेशा से पिंक बॉल क्रिकेट की वकालत की है। वह 2016-17 में जब तकनीकी समिति के मेम्बर थे, तब उन्होंने घरेलू क्रिकेट में भी पिंक बॉल के उपयोग की सिफारिश की थी। गांगुली ने उसी समय दिन-रात के मैच की वकालत की थी।

ज्यादा दर्शक आएंगे इससे
गांगुली का मत है कि दिन-रात के टेस्ट मैच से टेस्ट क्रिकेट को अधिक से अधिक दर्शक मिल सकेंगे। अभी दक्षिण अफ्रीका के साथ रांची में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के बाद भारतीय कैप्टन कोहली ने दर्शकों की कम संख्या को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। कोहली ने इसके बाद हिंदुस्तान में पांच टेस्ट सेंटर बनाए जाने की बात कही थी। बांग्लादेशी टीम बुधवार को हिंदुस्तान पहुंच रही है। वह हिंदुस्तान के साथ तीन टी-20 व दो टेस्ट मैच खेलेगी।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD