पांच मौके जब बांग्लादेश टीम ने किया क्रिकेट को शर्मस

Viral xyz

Viral xyz

Author 2019-11-05 00:08:09

क्रिकेट के मैदान पर खड़े अंपायरों के बाद मैच में होने वाले हर फैसले के लिए थर्ड अंपायर और मैच रैफरी जिम्मेदार होता है। ड्रेसिंग रुम में मौजूद कप्तान या कोई खिलाड़ी किसी फैसले के लिए खेल को प्रभावित नहीं कर सकते। बांग्लदेश क्रिकेट इससे पहले भी बड़े विवाद का शिकार हआ है। आईये जानते हैं ऐसे ही पांच वाक्ये के बारे में जब बांग्लादेशी टीम ने क्रिकेट को किया शर्मसार।


imgThird party image reference

भारतीय खिलाड़ियों खिलाड़ियों की हजामत

साल 2015 में बांग्लादेश के खिलाफ भारतीय क्रिकेट टीम वनडे सीरीज़ हार गई थी। सीरीज में डेब्यू करने वाले मुस्तफिजुर रहमान ने अहम भूमिका निभाई थी। इसके बाद उनको बांग्लादेश के नए हीरो के रुप में पॉपुलर कर दिया। लेकिन इस दौरान एक पोस्टर चर्चा का विषय बना था जिसमें मुस्तफिजुर के हाथ में कटर है और उसके नीचे 7 भारतीय खिलाड़ी हैं, जिनका आधा सिर साफ किया हुआ है। मानिये जैसे मुस्तफिजुर ने सभी खिलाड़ियों की हजामत की हो। इस प्रकार के पोस्टर का बांग्लादेश के एक अखबार में छपना वाकई शर्मनाक है।

imgThird party image reference

2012 एशिया कप

2012 एशिया कप के फाइनल मुकाबले में बांग्लादेश को पाकिस्तान से हार का सामना करना पड़ा था। लेकिन टीम यह हार नहीं पचा पाई और चेयरमैन इनायत हौसेन सिराज ने हार के बाद फैसला बदलने के लिए आईसीसी से अपील की थी। उन्होंने कहा था ‘ हमने कई दफा वीडियो देखी है, फूटेज में साफ नज़र आ रहा कि चीमा ने महमुदुल्लाह को जानबूझकर रोका था। हम इसके खिलाफ एसीसी में शिकायत दर्ज करेंगे और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल को भी कॉपी सौंपेंगे।

imgThird party image reference

धोनी का कटा हुआ सिर

विवादों में केवल बांग्लादेशी टीम या अखबार को ही नहीं बल्कि फैंस को भी लिप्त पाया गया है। एशिया कप के फाइनल में पहुंचने के बाद बांग्लादेश के एक फैन को तस्कीन अहमद के हाथों में धोनी के कटे हुए सिर वाले पोस्टर के साथ देखा गया था। जिसकी पूरी मीडिया जगत में बहुत निंदा हुई थी।

imgThird party image reference

2016 टी20 वर्ल्ड कप

साल 2016 टी20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भारत की हार पर बांग्लादेशी क्रिकेटर मुशफिकुर रहीम ने जश्न मनाया था। उन्होंने एक ट्वीट में भारत का मजाक उड़ाते हुए लिखा था खुशी इसे कहते हैं।

imgThird party image reference

निदहास ट्रॉफी

बांग्लादेश और मेजबान श्रीलंका के बीच निदहास ट्रॉफी के छठे मैच के आखिरी ओवर खूब ड्रामा हुआ। मैदान पर दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने जमकर हंगामा किया। एक समय ऐसा लग रहा था कि ये मैच पूरा नहीं हो पाएगा। बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन ने उस वक्त मैच रुकवा दिया, जब मैच के आखिरी ओवर की पहली दो गेंदों पर बंगलादेशी बल्लेबाज़ रन नहीं बना पाए। लेकिन ये दोनों गेंदें बाउंसर थीं, इस दौरान बांग्लादेश का एक बल्लेबाज़ आउट हो गया। जिसका शाकिब ने विरोध जताया और वह बाउंड्री लाइन पर आ गए। और टीम को मैदान से वापस आने को कहा, जिसके बाद अंपायर ने दूसरी गेंद को नोबॉल दिया और फिर मैच शुरू हुआ। अंपायर ने जब इस गेंद को नोबॉल घोषित किया तो उसके बाद श्रीलंका के कप्तान परेरा ने अपनी नाराजगी जाहिर की, जिस पर मैदान पर पहुंच चुका अतिरिक्त बंगलादेशी खिलाड़ी उनसे उलझ गया। जिसने क्रिकेट को शर्मसार कर दिया।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD