बांग्लादेश के शाकिब अल हसन कोई नहीं है युवा खिलाड़ी

Gyan Hi Gyan

Gyan Hi Gyan

Author 2019-10-31 07:22:52

img

बांग्लादेश के शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) कोई युवा खिलाड़ी नहीं हैं। न ही उनकी आर्थिक स्थिति ही बहुत बेकार है। देश के लिए 56 टेस्ट, 206 वनडे व 76 टी-20 मुकाबले खेल चुके हैं। मैच फिक्सिंग (Match Fixing) को लेकर आईसीसी (ICC) की कई वर्कशॉप में भाग ले चुके हैं। बावजूद इसके वे मैच फिक्सिंग को लेकर फैलाए गए बुकी के जाल से बच नहीं सके। यही वजह रही कि जब तीन बार उन्हें मैच फिक्सिंग के ऑफर मिले व एक बार भी उन्होंने आईसीसी की एंटी करप्‍शन यूनिट (ICC Anti Corruption Unit) को इसकी जानकारी देना उचित नहीं समझा, तो उन पर शिकंजा कसता चला गया। आखिरकार बांग्लादेश (Bangladesh) के इस स्टार ऑलराउंडर को दो वर्ष के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया।

आईसीसी (ICC) ने शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) से जुड़े इस मुद्दे में भारतीय सटोरिये दीपक अग्रवाल (Deepak Agarwal) का नाम अपनी प्रेस रिलीज में जाहिर किया है। दीपक अग्रवाल ही वो बुकी है जिसने मैच फिक्स करने के लिए लगातार शाकिब अल हसन से सम्पर्क किया व यहां तक कि उन्हें बिटकॉइन तक के बारे में भी बताया। दीपक अग्रवाल ने शाकिब से उनके बैंक एकाउंट की जानकारी भी मांगी। शायद इतना सब होने के बाद शाकिब भी करप्शन की राह पर चलने के लिए राजी होते नजर आए जब उन्होंने बुकी से मिलने की बात कह दी। व्हाट्सऐप मैसेज के जरिये हुई इस वार्ता का लेखा-जोखा आईसीसी ने जारी कर‌ दिया है।

शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडरों की सूची में टेस्ट में तीसरे, वनडे में पहले व टी-20 रैंकिंग में दूसरे नंबर पर हैं। यही वजह है कि आईसीसी (ICC) भी इस बात को लेकर दंग है कि आखिर इस खेल का ये बेहतरीन ऑलराउंडर एंटी करप्‍शन यूनिट (Anti Corruption Unit) को मैच फिक्सिंग (Match Fixing) के ऑफर की जानकारी देने में विफल रहा। जानते हैं कि फिक्सिंग के इस काले कारनामे की आरंभ आखिर हुई कहां से थी।

नवंबर 2017
आईसीसी (ICC) ने जो रिलीज जारी की है, उसके अनुसार, दीपक अग्रवाल (Deepak Agarwal) ने सबसे पहले नवंबर 2017 में शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) से बात की। तब बांग्लादेश प्रीमियर लीग खेली जा रही थी, जिसमें शाकिब ढाका डायनामाइट्स टीम की ओर से भाग ले रहे थे। शाकिब का नंबर दीपक को उनके ही एक करीबी इंसान ने दिया था। इसके बाद दीपक ने शाकिब को लगातार मैसेज किए व उनसे मिलने की प्रयास करता रहा।

जनवरी 2018
बांग्लादेश (Bangladesh) ने त्रिकोणीय वनडे सीरीज के लिए श्रीलंका व जिम्बाब्वे की मेजबानी की। जनवरी 2019 को बांग्लादेश ने श्रीलंका को हरा दिया व इस मैच में शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) मैन ऑफ द मैच चुने गए। दीपक अग्रवाल (Deepak Agarwal) ने इस प्रदर्शन के लिए शाकिब को शुभकामना संदेश भेजा व उसके बाद कोड वर्ड में एक मैसेज भेजा, जिसने आईसीसी की एंटी करप्‍शन यूनिट को आगाह कर दिया। इस मैसेज में दीपक ने कहा, ‘क्या हम इस पर कार्य कर सकते हैं या फिर मैं आईपीएल (IPL) तक इंतजार करूं। ‘ इस मैसेज का मतलब था कि शाकिब टीम की अंदरूनी जानकारी अभी मुहैया कराएंगे या आईपीएल में। शाकिब ने इस बात की जानकारी न तो आईसीसी की एंटी करप्‍शन यूनिट को दी व न ही अन्य किसी अथॉरिटी को।

चार दिन बाद ही दीपक अग्रवाल ने शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) को मैसेज भेजा। इसमें लिखा था, ‘भाई क्या इस सीरीज में कुछ है?’ बांग्लादेश के स्टार ऑलराउंडर ने एक बार फिर इस बात की जानकारी आईसीसी की एंटी करप्‍शन यूनिट (ICC Anti Corruption Unit) व यहां तक कि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (Bangladesh Cricket Board) से भी छिपाई।

अप्रैल 2018
आईपीएल 2018 (IPL 2018) में 26 अप्रैल को सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) व किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) के बीच मैच खेला गया था। ये मैच हैदराबाद में हुआ व मैच वाले दिन ही शाकिब (Shakib Al Hasan) के पास दीपक अग्रवाल (Deepak Agarwal) का मैसेज आया। ये वही वार्ता थी, जिसके बाद शाकिब ने दीपक से मिलने की ख़्वाहिश जाहिर कर दी। दीपक अग्रवाल (Deepak Aggarwal) ने शाकिब को व्हाट्सऐप पर मैसेज कर पूछा कि क्या अमुक खिलाड़ी इस मैच में प्लेइंग इलेवन में शामिल होगा? इसके बाद टीम की अन्य अंदरूनी जानकारी भी मैसेज के जरिये मांगी गईं। 26 अप्रैल 2018 के दिन किए गए इन मैसेज के अतिरिक्त कई डिलीट मैसेज भी थे, जिनके बारे में शाकिब ने माना है कि ये मैसेज टीम की अंदरूनी जानकारी मांगे जाने से संबंधित थे, जिन्हें उन्होंने डिलीट कर दिया। यही वो पल था, जिसके बाद शाकिब को इस मुद्दे की गंभीरता का अंदाजा हुआ। मगर एक बार फिर उन्होंने इसकी जानकारी किसी भी संबंधित अथॉरिटी को नहीं दी।

बिटकॉइन से लेकर बैंक एकाउंट तक
बुकी दीपक अग्रवाल (Deepak Aggarwal) ने मैसेज के जरिये शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) से बिटकॉइन को लेकर भी बात की थी व उनके डॉलर एकाउंट की जानकारी भी मांगी थी। आईसीसी की एंटी करप्‍शन यूनिट ने इस मुद्दे में शाकिब अल हसन से दो बार पूछताछ की थी। इस वर्ष 23 जनवरी व 27 अगस्त को आईसीसी ऑफिसर शाकिब से मिले थे।

जिस मैच में फिक्सिंग का ऑफर था, उसमें ऐसा रहा शाकिब का प्रदर्शन
शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) ने आईपीएल 2018 (IPL 2018) के इस मुकाबले में गेंद व बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया था, जिसकी वजह से उनकी टीम को बेहतरीन जीत मिली। मैच में हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) की टीम पहले खेलते हुए 6 विकेट पर 132 रनों पर सिमट गई थी। हालांकि जवाब में किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) की टीम 19.2 ओवर में 119 रन ही बना सकी व 13 रन से ये मुकाबला पराजय गई। शाकिब ने इस मैच में 29 गेंद पर 28 रन बनाए व 3 ओवर में महज 18 रन देकर दो विकेट भी अपने नाम किए। बावजूद इसके इस मैच में पराजित टीम के खिलाड़ी को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। पंजाब के लिए उसके गेंदबाज अंकित राजपूत ने 4 ओवर में 15 रन देकर 5 विकेट लिए थे, जिसके लिए उन्हें ये पुरस्कार दिया गया।

इसलिए बांग्लादेश के महानतम खिलाड़ियों में शुमार हैं शाकिब
बांग्लादेश के टेस्ट व टी-20 कैप्टन शाकिब अल हसन (Shakib Al hasan) ने अपने करियर में 56 टेस्ट मैच खेले हैं। इनमें उन्होंने 39.40 की औसत से 3862 रन बनाए हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर 217 रन है। इस प्रारूप में उनके नाम 5 शतक व 24 अर्धशतक हैं। वहीं टीम के लिए 206 वनडे खेलकर शाकिब ने 37.86 की औसत से 6323 रन बनाए हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 134 रन है। वनडे में शाकिब के बल्ले से 9 शतक व 47 अर्धशतक निकले हैं। बांग्लादेश के लिए शाकिब ने 76 टी-20 मुकाबले भी खेले हैं। इनमें उन्होंने 23.74 की औसत से 1567 रन बनाए हैं। इस प्रारूप में उन्होंने 9 अर्धशतक जड़े हैं।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD