बीसीसीआई के भावी अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा कुछ ऐसा

Polkhol India

Polkhol India

Author 2019-10-14 12:15:20

बीसीसीआई के भावी अध्यक्ष सौरव गांगुली ने सोमवार को बोला कि उनके लिए यह कुछ अच्छा करने का सुनहरा मौका है क्योंकि वह ऐसे समय में बोर्ड की कमान संभालने जा रहे हैं जब उसकी छवि बहुत ज्यादा बेकार हुई है . गांगुली ने अध्यक्ष पद की होड़ में बृजेश पटेल को पछाड़ दिया है व अब इस पद के लिए अकेले उम्मीदवार हैं।

img

उन्होंने बोला ,‘‘ आपको दोपहर तीन बजे तक इंतजार करना होगा। ' उन्होंने बोला ,‘‘ निश्चित तौर पर यह बहुत अच्छा अहसास है क्योंकि मैंने देश के लिए खेला है व कैप्टन रहा हूं । ' गांगुली ने बोला ,‘‘ मैं ऐसे समय में कमान संभालने जा रहा हूं जब पिछले तीन वर्ष से बोर्ड की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है। इसकी छवि बहुत बेकार हुई है। मेरे लिए यह कुछ अच्छा करने का सुनहरा मौका है। ' उन्होंने बोला कि उनकी अहमियत प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों की देखभाल होगी।

गांगुली का इरादा भारतीय क्रिकेट के सभी पक्षों से मिलने का व वे सारे कार्य करने का है जो पिछले 33 महीने में प्रशासकों की समिति नहीं कर सकी। उन्होंने बोला ,‘‘ पहले मैं सभी से बात करूंगा व फिर निर्णय लूंगा। मेरी अहमियत प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों की देखभाल करना होगा। मैं तीन वर्ष से सीओए से भी यही कहता आया हूं लेकिन उन्होंने नहीं सुनी। सबसे पहले मैं प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों की आर्थिक स्थिति दुरूस्त करूंगा। ' ‘कूलिंग आफ' अवधि के कारण उन्हें जुलाई में पद छोड़ना होगा।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 18000 से अधिक रन बना चुके पूर्व कैप्टन ने बोला कि निर्विरोध चुना जाना ही बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। उन्होंने बोला ,‘‘ यह दुनिया क्रिकेट का सबसे बड़ा संगठन है व जिम्मेदारी तो है ही, चाहे आप निर्विरोध चुने गए हों या नहीं . हिंदुस्तान क्रिकेट की महाशक्ति है तो यह चुनौती भी बड़ी होगी। ' यह पूछने पर कि कार्यकाल सिर्फ नौ महीने का होने का क्या उन्हें अफसोस है , उन्होंने बोला ,‘‘ हां, यही नियम है व हमें इसका पालन करना है। ' उन्होंने बोला ,‘‘ जब मैं आया तो मुझे पता नहीं था कि मैं अध्यक्ष बनूंगा। पत्रकारों ने मुझसे पूछा तो मैने बृजेश का नाम लिया। मुझे बाद में पता चला कि दशा बदल गए हैं .

मैंने कभी बीसीसीआई चुनाव नहीं लड़ा तो मुझे नहीं पता कि बोर्ड रूम पॉलिटिक्स क्या होती है। ' गांगुली ने शनिवार को गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। यह पूछने पर कि पश्चिम बंगाल में चुनाव में क्या वह बीजेपी के लिए प्रचार करेंगे, उन्होंने ना में जवाब दिया। उन्होंने बोला ,‘‘ ऐसा कुछ नहीं है। मुझसे किसी ने कुछ नहीं कहा। ' बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष जगमोहन डालमिया का जिक्र आने पर भावुक हुए गांगुली ने बोला ,‘‘ मैंने कभी सोचा नहीं था कि इस पद पर मैं भी काबिज होऊंगा। वह मेरे लिए पितातुल्य थे . बीसीसीआई के कई बेहतरीन अध्यक्ष हुए हैं , श्रीनिवासन , अनुराग जिन्होंने अच्छा कार्य किया। ' यह कप्तानी से अलग होगा , यह पूछने पर गांगुली ने बोला ,‘‘ भारतीय टीम का कैप्टन होने से बढ़ कर कुछ नहीं । '

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN