भारतीय कोच रवि शास्त्री ने बोली यह बड़ी बात

Gyan Hi Gyan

Gyan Hi Gyan

Author 2019-10-23 11:27:28

img

भारतीय कोच रवि शास्त्री ने मंगलवार को बोला कि टेस्ट सलामी बल्लेबाज की नयी किरदार में रोहित शर्मा ने खुद को अलग स्तर के खिलाड़ी के रूप में दिखाया व इस क्रम की चुनौती से शानदार ढंग से सामंजस्य बैठाने में पास रहे। हिंदुस्तान ने यहां चौथे दिन प्रातः काल के सत्र में तीसरा व अंतिम टेस्ट पारी व 202 रन से जीतकर शृंखला में दक्षिण अफ्रीका का 3-0 से क्लीनस्वीप किया।

शास्त्री ने मैच के बाद आधिकारिक प्रसारणकर्ता ‘स्टार स्पोर्ट्स’ से बोला कि मध्यक्रम में अजिंक्य रहाणे मौजूदा है, उसे सिर्फ अपनी फार्म दोबारा हासिल करनी थी। रोहित अलग स्तर का खिलाड़ी है। एक सलामी बल्लेबाज के रूप में उसकी मानसिकता अलग होने की आवश्यकता थी, उसने सामंजस्य बैठाया। यह पारी की आरंभ करने के लिए कठिन पिच थी लेकिन उसने झेला।

उन्होंने बोला कि यह उसके अंदर है कि कठिन परिस्थितियों से उसे फर्क नहीं पड़ता। इस शृंखला में उसने बेहतरीन प्रदर्शन किया। शास्त्री ने टीम की मानसिकता की भी सराहना करते हुए बोला कि टीम घरेलू या विदेशी सरजमीं पर किसी भी दशा का सामना करने से नहीं झिझकती। उन्होंने बोला कि हमारी सोच यही है कि भाड़ में जाए पिच। हमें 20 विकेट लेने की आवश्यकता है व इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह मुंबई, आकलैंड, मेलबर्न है या कोई व जगह। एक बार 20 विकेट हासिल करने के बाद, हमारी बल्लेबाजी जब लय में आ जाती है तो यह फर्राटे से दौड़ती फेरारी की तरह होती है।

शास्त्री ने बोला कि जब आपके पास 20 विकेट चटकाने वाले पांच गेंदबाज होते हैं तो बस यही अर्थ रखता है। हिंदुस्तान ने शृंखला में प्रारम्भ से ही दबदबा बनाया। बल्लेबाजों ने बड़ी पारियां खेली जबकि गेंदबाजों ने अनुभव व आत्मविश्वास की कमी से जूझ रहे दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों के विरूद्ध नियमित रूप से सफलता हासिल की। शास्त्री ने बायें हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम की तारीफ की जिन्होंने यहां 30 बरस की आयु में पदार्पण किया व चार विकेट चटकाए। भारतीय कोच ने बोला कि बेहद प्रभावित। कल जब उसने पहला विकेट हासिल किया जो मैं बोला था कि अगर बिशन सिंह बेदी देख रहे होते तो वह कहते शानदार बेटा। उसे बाहर से खेलते हुए देखना शानदार था।

शास्त्री ने बोला कि घरेलू क्रिकेट में उसके नाम 420 से अधिक विकेट हैं, उसने लंबी दूरी तय की है। खुद है कि उसने मैच को समाप्त किया। अपने घरेलू दर्शकों के सामने उसने जिस तरह की आरंभ की वह शानदार थी। उन्होंने बोला कि वह बिलकुल भी नर्वस नहीं था, पहले तीन ओवर मेडन थे। प्रत्येक गेंद लक्ष्य पर थी। यह उसके अनुभव के कारण है। शास्त्री ने साथ ही बोला कि यह जीत टीम कोशिश का नतीजा है। उन्होंने बोला कि यह टीम कोशिश है। एक कैप्टन जो आगे बढ़कर अगुआई कर रहा है। आपके पास सलामी बल्लेबाज हैं जो दोहरा शतक बना रहे हैं। मध्यक्रम के बल्लेबाजों ने शतक बनाए। आम तौर पर हिंदुस्तान में दो खिलाड़ी सुर्खियां बटोरते हैं। यहां हमारे पास छह या सात खिलाड़ी हैं. सब कुछ अच्छा चल रहा है, लुत्फ उठाओ।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD