माँ के संघर्ष ने बनाया U-19 के इस क्रिकेटर को देश का हीरो

Cri8 time

Cri8 time

Author 2019-09-15 16:54:18

बांग्लादेश के खिलाफ अंडर-19 एशिया कप के फाइनल में शानदार प्रदर्शन कर ‘मैन ऑफ द मैच’ बनेअथर्व की कामयाबी के पीछे उनकी मां वैदेही की ही लगन है। आज के दौर में बस कंडक्टर जैसे कार्य को भारत में महिलाओं के लिए कठिन ही माना जाता है। अथर्व की आज की सफलता उनकी मां वैदेही की इन्हीं चुनौतियों पर जीत की कहानी है।

imgThird party image reference

अगर आपमें क्षमता है और मंजिल को हासिल करने का जुनून है तो परिस्थिति कैसी भी हो कोई आपको रोक नहीं सकता। कुछ ऐसा ही कमाल किया मुंबई के 18 वर्षीय बाएं हाथ के स्पिनर अथर्व अंकोलेकर ने। बचपन में ही सिर से पिता का साया उठ गया। तमाम विपत्तियों को चुनौती देते हुए मां ने बस कंडक्टर का काम किया और पेट काटकर बेटे के उस सपने को पूरा किया, जो अथर्व के पिता देखा करते थे।

" माँ वैदेही की ड्यूटी मारोल बस डिपो पर हैं और वह बस नंबर 186 (अगरकर चौक से विहार लेक) और 340 (घाटकोपर स्टेशन से अगरकर चौक) में कार्यरत हैं। 26 सितंबर 2000 को जन्में अथर्व के पिता विनोद BEST (बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट) में कंडक्टर थे। परिवार में वे इकलौते कमाने वाले थे। पति की मौत के बाद पूरे परिवार पर दो वक्त की रोटी भी भारी पड़ रही थी। ऐसे में वैदेही ने दोस्त की मदद से ट्यूशन देना शुरू किया। बाद में उन्हें अपने पति की जगह कंडक्टर की नौकरी मिल गई।"
imgThird party image reference

निराश होता तो मां समझाती - अच्छा खेलो

अथर्व की माँ ने कहा कि अथर्व का छोटा भाई भी अंडर-14 क्रिकेट टीम में है। हमारी आर्थिक स्थिति खराब होने से अथर्व 15 किमी दूर बस से क्रिकेट किट लेकर एमआईजी में प्रैक्टिस के लिए जाता था। "कई बार भारी किट और थकाऊ प्रैक्टिस के कारण वह क्रिकेट छोड़ने की सोचने लगता था। तब मैं उसे समझाती, हौसला बढ़ाती- अच्छा खेलो और कार खरीद लाे। उसमें मुझे भी घुमाना।"

imgThird party image reference

भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए 32.4 ओवरों में सिर्फ 106 रनों पर ही आउट हो गई.आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश 33 ओवरों में सिर्फ 101 रनों पर ऑल आउट हो गई. 78 रनों पर अपने आठ विकेट खोने वाली बांग्लादेश को अंत में तनजीम हसन शाकिब (12) और रकिबुल हसन (नाबाद 11) ने जीत के करीब लगभग पहुंचा ही दिया था. बांग्लादेश को जब लगने लगा कि वह जीत हासिल कर लेगी तभी अर्थव ने तनजीम और फिर दो गेंद बाद शाहहीन आलम को आउट कर उसकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया.

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN