रांची टेस्ट जैसा कभी नहीं होगा, आयोजक और BCCI टेंशन में

Sanjeevni Today

Sanjeevni Today

Author 2019-10-19 01:05:26

  1. img

रांची टेस्ट को लेकर सारी तैयारियां हो चुकी हैं, दोनों टीमें वहां पहुंच चुकी हैं, लेकिन फिलहाल स्थिति ये है कि दर्शको के पांचों काउंटर्स पर सन्नाटा छाया हुआ है।

नई दिल्ली। साउथ अफ्रीका की टीम इन दिनों इंडिया आई हुई है, दो टेस्ट मैच पहला विशाखापत्तनम में दूसरा पुणे में खेले जा चुके हैं। टीम इंडिया दोनों मैच अपने नाम कर सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है। अब 19 अक्टूबर से तीसरा और अंतिम टेस्ट रांची के झारखंड स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में मैच खेला जायेगा। टीम इंडिया क्लीन स्वीप करने के इरादे से मैदान पर उतरेंगी, लेकिन इस टेस्ट में कुछ ऐसा हुआ है कि अगली बार यहां टेस्ट कराने से पहले बीसीसीआई दस बार सोचेगा।

यह भी पढ़े:टीम इंडिया रांची टेस्ट में रच सकती है इतिहास, कोई नहीं कर....

दरअसल, रांची टेस्ट को लेकर सारी तैयारियां हो चुकी हैं, दोनों टीमें वहां पहुंच चुकी हैं। लोगों को टिकट के लिए धक्कामुक्की न झेलनी पड़े इसके लिए स्टेडियम में पांच काउंटर बनाए गए, लेकिन फिलहाल स्थिति ये है कि पांचों काउंटर्स पर सन्नाटा छाया हुआ है, दर्शक आए ही नहीं। आपको बता दे रांची के इस स्टेडियम की क्षमता है 39 हजार दर्शको की है, लेकिन अब तक मात्र 1500 टिकट बिके हैं। ये स्थिति तब है जब कि टिकट्स काफी सस्ते हैं, सबसे सस्ता टिकट महज 250 रुपए का है, लेकिन इसके बावजूद टिकट नहीं बिक रहे हैं।

img

BCCI✔@BCCI

#TeamIndia trained at the nets at the JSCA Stadium in Ranchi ahead of the 3rd and final Test against South Africa.#INDvSA

imgimgimgimg

7,786

4:59 PM - Oct 17, 2019

Twitter Ads info and privacy

328 people are talking about this

फिलहाल जेएससीए ने फ्री में टिकट बांटने शुरू कर दिए हैं, 5000 टिकट सुरक्षा बलों को और 10 हजार टिकट स्कूली बच्चों को फ्री में दिया जाएगा। जेएससीए को इस टेस्ट मैच की मेजबानी के लिए बीसीसीआई से एक करोड़ रुपए मिले हैं, इसलिए उसे नुकसान नहीं उठाना पड़ेगा। लेकिन अगली जनरल बॉडी मीटिंग में जेएससीए इस मामले को बीसीसीआई के सामने उठा सकता है, जेएससीए के प्रेसिडेंट नफीस खान ने कहा, अगली बार शायद हमें टेस्ट मैच की मेजबानी से पहले दो बार सोचना पड़े. उस समय हम ना भी नहीं कह सकते। खाली स्टैंड देखकर बहुत दुख होता है. हमें टेस्ट प्रारूप में कुछ बदलाव करने होंगे।

बीसीसीआई के नए-नए चेयरमैन बने सौरव गांगुली भी टेस्ट क्रिकेट में बदलाव का समर्थन कर चुके हैं। 16 अक्टूबर को गांगुली ने कहा था कि उनकी कार्यसूची में भारतीय टीम द्वारा डे-नाइट टेस्ट मैच खेलने का मुद्दा रहेगा। उन्होंने कहा, हम इस पर किस तरह काम करेंगे, अभी कुछ भी कहना मेरे लिए काफी जल्दी होगा, लेकिन एक बार मुझे कार्यभार संभालने दीजिए, उसके बाद हम हर सदस्य से इस पर बात करेंगे।

img

दरअसल, यह सीरीज जीतने के साथ भारत ने अपने घर में लगातार टेस्ट सीरीज जीतने का विश्व रिकॉर्ड बनाया। उन्होंने प्रोटियाज टीम के खिलाफ जीत दर्ज कर लगातार 11वीं टेस्ट सीरीज जीती। इस मामले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया का पुराना रिकॉर्ड तोड़ा। मजेदार बात यह है कि ऑस्ट्रेलिया ने यह रिकॉर्ड दो बार बनाया है। भारत अगर अफ्रीकी टीम के खिलाफ अगला टेस्ट भी जीत लेता है तो वह यहां इतिहास रच देगा।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD