रोहित शर्मा का अदभुत डबल, बनाया नया विश्व रिकॉर्ड

Crick Data

Crick Data

Author 2019-10-06 00:50:57

दोस्तों क्रिकेट और स्पोर्ट्स से जुड़ी हर एक खबर के लिए ऊपर दिए गए बटन पर क्लिक करके हमारे चैनल 'Crick Data' को फॉलो करें -

imgThird party image reference

हिटमैन नाम से मशहूर रोहित शर्मा ने टेस्ट ओपनिंग में उतरने के साथ ही अपना कमाल का प्रदर्शन जारी रखते हुए दूसरी पारी में 127 रन ठोककर नया विश्व रिकॉर्ड बना डाला। रोहित ने पहली पारी में 176 रन बनाए थे। रोहित के इस अदभुत डबल से भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट के चौथे दिन शनिवार को अपनी दूसरी पारी चार विकेट पर 323 रन पर घोषित कर मेहमान टीम के सामने 395 रन का बेहद मुश्किल लक्ष्य रख दिया।

रोहित ने 149 गेंदों पर 127 रन की पारी में 10 चौके और सात छक्के लगाए। रोहित का यह पांचवां शतक है। उन्होंने चेतेश्वर पुजारा (81) के साथ दूसरे विकेट के लिए 169 रन की जबरदस्त साझेदारी की। पुजारा ने 148 गेंदों की अपनी पारी में 13 चौके और दो छक्के लगाए। पहली पारी में दोहरा शतक बनाने वाले मयंक अग्रवाल दूसरी पारी में सात रन बनाकर आउट हुए। रवींद्र जडेजा ने तेजी से 40 रन बनाये जबकि कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 31 और अजिंक्या रहाणे ने नाबाद 27 रन बनाये।

मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने स्टंप्स तक एक विकेट खोकर 11 रन बना लिए हैं और उसे अभी जीत के लिए 384 रन की जरूरत है। एडन मारक्रम तीन और थ्यूनिस दी ब्रून पांच रन बनाकर क्रीज पर हैं। पहली पारी में 160 रन बनाने वाले डीन एल्गर दूसरी पारी में दो रन बनाकर लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा की गेंद पर पगबाधा हो गए।

मैच का चौथा दिन पूरी तरह रोहित के नाम रहा। रोहित ने पहली बार टेस्ट ओपनिंग करते हुए रिकॉर्ड बुक को कई बार ध्वस्त किया और नया विश्व रिकॉर्ड बना दिया। रोहित टेस्‍ट क्रिकेट में सलामी बल्‍लेबाज के रूप में अपने पहले टेस्‍ट में दोनों पारियों में शतक लगाने वाले पहले बल्‍लेबाज बन गए हैं। टेस्‍ट क्रिकेट के 142 साल के इतिहास में रोहित यह कारनामा करने वाले इकलौते बल्‍लेबाज हैं।

रोहित इस तरह लगातार सात पारियों में 50 से ज्यादा रन बनाने वाले भारत के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। रोहित बतौर ओपनर पहले टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। रोहित ने इस मामले में दक्षिण अफ्रीका के केप्लर वेसेल्स को पीछे छोड़ दिया है। केप्लर ने पहले टेस्ट मैच में बतौर ओपनर 208 रन बनाए थे जबकि रोहित ने 303 रन बना दिए हैं।

हिटमैन रोहित एक टेस्‍ट की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले छठे भारतीय बल्‍लेबाज बन गए हैं। 41 साल बाद किसी भारतीय सलामी बल्‍लेबाज ने टेस्‍ट में दोनों पारियों में शतक लगाए हैं। रोहित से पहले सुनील गावस्‍कर ने 1978 में पाकिस्‍तान के लिए खिलाफ टेस्‍ट मैच में दोनों पारियों में शतक लगाए थे।

रोहित इस मैच में 13 छक्के उड़ाकर एक टेस्ट में सर्वाधिक छक्के उड़ाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन चुके हैं। उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू के रिकॉर्ड को तोड़ा है। रोहित को लेफ्ट आर्म स्पिनर केशव महाराज ने पहली पारी की तरह विकेटकीपर क्विंटन डी कॉक के हाथों स्‍टंप कराया। दिलचस्‍प बात है कि इस टेस्‍ट से पहले रोहित कभी स्‍टंप नहीं हुए थे और अब दोनों पारियों में इसी तरह से पवेलियन लौटे।

बतौर ओपनर पहले मैच की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले रोहित दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। अभी तक सिर्फ एक ही खिलाड़ी ऐसा था, जिसने पहले टेस्ट मैच में बतौर ओपनर शतक और अर्धशतक जड़ा था, लेकिन रोहित ने दोनों पारियों में शतक जड़कर इस रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया है। वेस्ट इंडीज गॉर्डन ग्रीनिज ने अपने पहले मैच में बतौर ओपनर अर्धशतकीय और शतकीय (93 और 107) पारी खेली थी।

रोहित का टेस्ट क्रिकेट में यह पांचवां शतक था। ये पांचों शतक हिटमैन रोहित ने अपनी सरजमीं पर बनाए हैं। इसके अलावा रोहित लगातार 7 पारियों में 50 से ज्यादा रन बनाने वाले भारत के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। एक टेस्‍ट की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले रोहित छठे भारतीय बल्‍लेबाज हैं। उनसे पहले विजय हजारे, सुनील गावस्‍कर, राहुल द्रविड़, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे यह कारनामा कर चुके हैं।

हजारे, विराट, रहाणे और रोहित ने यह कमाल एक-एक बार किया है जबकि गावस्‍कर ने 3 और द्रविड़ ने 2 बार टेस्‍ट की दोनों पारियों में शतक लगाए हैं। दूसरी पारी में 127 रन बनाकर इतिहास रचने वाले रोहित अब एक टेस्ट में सर्वाधिक छक्के उड़ाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन चुके हैं। रोहित ने सिद्धू के रिकॉर्ड को तोड़ा है। सिद्धू ने 1994 में लखनऊ में श्रीलंका के खिलाफ 8 छक्के लगाए थे। रोहित भारत की ओर से सबसे अधिक 13 छक्के लगाने का रिकॉर्ड भी बना गए हैं। उन्होंने पहली पारी में छह और दूसरी पारी में सात छक्के लगाए।

रोहित एक वनडे और टी-20 में भी सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले भारतीय हैं। उन्होंने 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलूरु वनडे में 16 छक्के लगाए थे। इसके बाद 2017 में इंदौर में खेले गए टी-20 में श्रीलंका के खिलाफ 10 छक्के लगाए थे।

भारत ने चौथे दिन सुबह दक्षिण अफ्रीका को पहली पारी में 431 रन पर समेटा। दक्षिण अफ्रीका ने कल के आठ विकेट पर 385 रन से आगे खेलना शुरू किया। सेनूराम मुथुसामी 33 रन पर नाबाद रहे। दक्षिण अफ्रीका के शेष दोनों विकेट ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने झटके। अश्विन ने 46.2 ओवर में 145 रन देकर सात विकेट लिए और अपने टेस्ट विकेटों की संख्या 349 पहुंचा दी। रवींद्र जडेजा ने दो और इशांत शर्मा ने एक विकेट लिया।

भारत ने अपनी दूसरी पारी में मयंक को जल्दी गंवाया लेकिन रोहित और पुजारा ने दूसरे विकेट के लिए 169 रन जोड़े। मयंक और पुजारा को केशव महाराज ने आउट किया। जडेजा को रन गति तेज करने के लिए चौथे नंबर पर भेजा गया। जडेजा ने 32 गेंदों पर तीन छक्कों की मदद से 40 रन बनाये।

विराट 25 गेंदों में तीन चौकों और एक छक्के के सहारे 31 और रहाणे 17 गेंदों में चार चौकों और एक छक्के के सहारे 27 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे। विराट ने भारत की दूसरी पारी चार विकेट पर 323 रन पर घोषित की।

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN