विज्जी की राह पर

Divya Himachal

Divya Himachal

Author 2019-10-18 02:39:13

धर्मशाला। 47 वर्षीय पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान और कमेंटेटर, जिन्हें दादा के रूप में जाना जाता है, सौरव चंडीदास गांगुली, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के 39वें अध्यक्ष होंगे, जो दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट संगठन हैं। यद्यपि उनके नए कार्य पद की औपचारिक घोषणा 23 अक्तूबर को की जाएगी, लेकिन निर्विरोध होने के कारण 2019 बीसीसीआई के आम चुनाव जीतने से गांगुली को अब कोई नहीं रोक सकता है। बेहतरीन भारतीय कप्तानों में से एक गांगुली, भारतीय क्रिकेट में एक नया अध्याय शुरू तो करेंगे, परंतु इसे मात्र 10 महीने के लिए ही निभा पाएंगे। गांगुली, पूर्व भारतीय कप्तान विजयनगरम के राजकुमार या विज्जी के नक्शेकदम पर चलते हुए ए बीसीसीआई में शीर्ष पद पर बने रहने वाले केवल दूसरे भारतीय कप्तान बनेंगे। 1936 के इंग्लैंड दौरे के दौरान विज्जी ने तीन टेस्ट मैचों में भारत का नेतृत्व किया था, जो बाद में 1954 में बीसीसीआई का अध्यक्ष बने थे। हालांकि पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर को भी 2014 में अंतरिम अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था, लेकिन उन्होंने पूर्णकालिक प्रशासक के रूप में कभी भी यह पद नहीं संभाला। रेमंड यूस्टेस ग्रांट गोवान दिल्ली के एक ब्रिटिश उद्योगपति 1928 से 1933 तक भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के पहले अध्यक्ष बने थे। भारत में क्रिकेट की लोकप्रियता और वित्तीय दबदबे के कारण यह एक अत्यंत प्रतिष्ठित पद है। संगठन पर वर्षों से प्रभावशाली राजनेताओं, रॉयल्टी और व्यापारियों का कब्जा रहा है। जगमोहन डालमिया ने तीन बार 2001, 2013 और 2015 में इस पद पर कब्जा किया और पद पर रहते हुए ही 2015 में उनकी मृत्यु हो गई। — अरविंद शर्मा

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN