शाकिब के बिना हम कमजोर नहीं : महमूदुल्लाह

Dainik Tribune Online

Dainik Tribune Online

Author 2019-10-31 11:06:15

नयी दिल्ली, 30 अक्तूबर (एजेंसी)

img

बांग्लादेश के टी-20 कप्तान महमूदुल्लाह रियाद ने कहा कि भारत दौरे पर शाकिब हल हसन की कमी उनके लिये कमजोरी नहीं बल्कि अच्छे प्रदर्शन की प्रेरणा साबित होगी। बांग्लादेश की 15 सदस्यीय टीम बुधवार को यहां पहुंची जबकि एक दिन पहले ही उनके महानतम खिलाड़ियों में से एक शाकिब पर सटोरिये की पेशकश की जानकारी नहीं देने के कारण 2 साल का प्रतिबंध (एक साल का निलंबित प्रतिबंध) लगाया गया है।
बांग्लादेशी टीम 3 टी-20 नयी दिल्ली (3 नवंबर), राजकोट (7 नवंबर) और नागपुर (10 नवंबर) को खेलेगी। इसके अलावा 2 टेस्ट इंदौर (14 से 18 नवंबर) और कोलकाता (22 से 26 नवंबर) खेले जायेंगे। कोलकाता में दोनों देशों के बीच पहला दिन रात्रि का टेस्ट खेला जायेगा। महमूदुल्लाह ने कहा, ‘हम अपने देश के लिये सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे। शाकिब की गैर मौजूदगी हमारे लिये प्रेरणा का काम करेगी। देश के लिये खेलने से बड़ा सम्मान कोई नहीं है। मुझ पर कप्तानी की जिम्मेदारी है और मैं अपनी ओर से कोई कसर नहीं छोडूंगा।’
महमूदुल्लाह ने हालांकि स्वीकार किया कि यह दौरा कठिन होगा। उन्होंने कहा, ‘आंकड़े झूठ नहीं बोलते। यह कठिन दौरा है लेकिन नामुमकिन नहीं। हम एक टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन करेंगे।’

आसान नहीं होगी वापसी : बशर

नयी दिल्ली। बांग्लादेश के पूर्व कप्तान और राष्ट्रीय चयनकर्ता हबीबुल बशर स्तब्ध हैं कि शाकिब अल हसन जैसे ‘परिपक्व’ व्यक्ति ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद को भ्रष्ट संपर्क की शिकायत नहीं की। उनका साथ ही मानना है कि इस प्रतिबंधित आलराउंडर के लिए अपना शीर्ष स्थान दोबारा हासिल करना भले ही असंभव नहीं हो लेकिन काफी मुश्किल होगा। दुनिया के नंबर एक आलराउंडर शाकिब को मंगलवार को आईसीसी ने 2018 में इंडियन प्रीमियर लीग सहित 3 मौकों पर कथित सट्टेबाज दीपक अग्रवाल के भ्रष्ट संपर्क की जानकारी नहीं देने पर 2 साल के लिए प्रतिबंधित किया जिसमें एक साल का निलंबित प्रतिबंध भी शामिल है। बशर को उम्मीद है कि तीनों प्रारूपों में 11 हजार से अधिक रन और 500 से अधिक विकेट चटकाने वाले 32 साल के शाकिब प्रतिबंध के बाद टीम में वापसी करेंगे लेकिन साथ ही कहा कि उनकी राह आसान नहीं होगी।

बांग्लादेश में विरोध प्रदर्शन

ढाका। क्रिकेट कप्तान शाकिब अल हसन पर भ्रष्ट संपर्क की जानकारी नहीं देने के लिए लगे 2 साल के प्रतिबंध के खिलाफ बुधवार को बांग्लादेश में सैकड़ों लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने मंगलवार को 32 साल के इस स्टार खिलाड़ी को प्रतिबंधित करने की घोषणा की। शाकिब ने प्रतिबंध के बाद सार्वजनिक अपील करके समर्थन मांगा था जिसके बाद उनके प्रशंसकों ने सोशल मीडिया पर ढेरों आईसीसी विरोधी पोस्ट डाले। पुलिस का कहना है कि शाकिब के गृहनगर मगुरा में लगभग 700 लोग सड़कों पर उतर आए और आईसीसी से उन पर लगा प्रतिबंध हटाने की मांग करने लगे। पुलिस प्रमुख सैफुल इस्लाम ने कहा, ‘प्रदर्शनकारियों ने नारे लगाए और राजमार्ग पर मार्च किया। उन्होंने आईसीसी के फैसले के खिलाफ विरोध जताते हुए मानव सीरीज भी बनाई।’

शाकिब पर और कड़ा प्रतिबंध लगना चाहिए था : वॉन

img

नयी दिल्ली। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने शाकिब अल हसन के लिये कड़े प्रतिबंध की मांग की जबकि आस्ट्रेलियाई डीन जोंस इस बात से हैरान हैं कि इस बांग्लादेशी आलराउंडर ने ऐसे समय में इन भ्रष्ट पेशकश की रिपोर्ट क्यों नहीं की जब ‘खिलाड़ी नियमों के बारे में भली भांति वाकिफ’ हैं। वॉन ने ट्वीट किया, ‘शाकिब अल हसन से कोई सहानुभूति नहीं। बिलकुल भी नहीं। इस समय में जब खिलाड़ियों को हर समय बताया जाता है कि वे क्या कर सकते हैं क्या नहीं और क्या चीज उन्हें तुरंत रिपोर्ट करनी चाहिए। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज राजा ने कहा कि कोई भी खेल से बड़ा नहीं है। शाकिब इस समय दुनिया के नंबर एक आलराउंडर हैं। राजा ने लिखा, ‘इसलिये शाकिब अल हसन का प्रतिबंध उन सभी खेल प्रेमियों और खिलाड़ियों के लिये सबक है। अगर आप खेल का अनादर करते हो और निर्धारित नियमों और प्रोटोकॉल की उपेक्षा कर खेल से बड़े बनने की कोशिश करते हो तो नीचे गिरने के लिये तैयार रहो। दुखद।’

एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति से हटे
लंदन। भ्रष्ट पेशकश की रिपोर्ट नहीं करने के कारण प्रतिबंधित हुए बांग्लादेशी कप्तान और शीर्ष आल राउंडर शाकिब अल हसन खेल के नियम बनाने वाली एमसीसी की विश्व क्रिकेट समिति से हट गये हैं। मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के अनुसार, ‘मेरिलबोन क्रिकेट क्लब इस बात की पुष्टि करता है कि शाकिब अल हसन एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति से हट गये हैं।’ इस खिलाड़ी ने आईसीसी भ्रष्टाचार रोधी संहिता के उल्लघंन के आरोपों को स्वीकार कर लिया है जिससे वह इस सजा के खिलाफ अपील नहीं कर सकते। शाकिब अक्तूबर 2017 में एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति से जुड़े थे और उन्होंने सिडनी और बेंगलुरू में दोनों जगह बैठकों में शिरकत की थी। एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति में दुनिया के मौजूदा और पूर्व अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर और अंपायर शामिल होते हैं जो एक साल में 2 बार मिलकर खेल की मौजूदा स्थिति पर चर्चा करते हैं।
अगली बैठक मार्च 2020 में श्रीलंका में होनी है।

2023 में शाकिब करेगा बांग्लादेश की अगुवाई : मुर्तजा
ढाका। बांग्लादेश के एकदिवसीय कप्तान मशरेफी मुर्तजा ने बुधवार को कहा कि स्टार आलराउंडर शाकिब अल हसन सफल वापसी करके विश्व कप 2023 में बांग्लादेश की अगुवाई करेगा। निलंबन के बाद शाकिब भारत के आगामी दौरे से भी बाहर हो गये। मुर्तजा ने अपने ट्विटर हैंडल पर बंगाली में लिखा, ‘निश्चित तौर पर मुझे भी 13 साल से अपने साथी के साथ हाल की घटनाओं के कारण कुछ रातों तक नींद नहीं आएगी। लेकिन यह सोचकर चैन की नींद सो सकता हूं कि वह 2023 विश्व कप में टीम की अगुवाई करेगा क्योंकि उसका नाम शाकिब अल हसन है।’ पूर्व कप्तान मुशफिकर रहीम ने भी अपने साथी का पक्ष लिया और कहा कि वह शाकिब के बिना मैदान पर उतरने के बारे में नहीं सोच सकते। रहीम ने ट्वीट किया, ‘मैं नहीं जानता कि क्या कहना चाहिए। मुझे अब भी विश्वास नहीं हो रहा है कि हमें उसे बिना खेलना है।’ लेकिन मैं एक बात मैं अच्छी तरह से जानता हूं आप दमदार वापसी करोगे। हम उस दिन का इंतजार करेंगे शाकिब भाई। हम शाकिब के साथ हैं।’

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD