श्रीसंत ने बताया क्यों धौनी की CSK से करते हैं इतनी नफरत

LiveHindustan

LiveHindustan

Author 2019-09-30 16:17:10

img

पूर्व क्रिकेटर एस श्रीसंत (S Sreesanth) पर लगा आजीवन प्रतिबंध हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने हटा लिया है। हाल ही में श्रीसंत ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की फ्रेंजाइजी चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के प्रति अपनी नफरत का इजहार किया। दाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज के विवादास्पद करियर ने हरभजन सिंह के साथ 'थप्पड़ कांड' झेला। इसके बाद राजस्थान रॉयल्स के कोच पैडी अपटन के साथ उनके विवाद और फिर आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों ने उनपर प्रतिबंध लगा। 

हाल ही में पैडी अपटन ने अपनी आत्मकथा में लिखा था, 'जब श्रीसंत को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ मैच में खेलने की इजाजत नहीं दी गई तो इस गेंदबाज ने उन्हें गाली दी थी।' अब श्रीसंत ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में अपटन से अपने विवादों पर कहा है कि मैं मैच खेलना चाहते थे, क्योंकि मैं सीएसके को पसंद नहीं करता। 

उन्होंने कहा, 'मिस्टर अपटन, अपने दिल पर और बच्चों के सिर पर हाथ रख कर कहो कि क्या मैंने आपको गाली दी थी। मैं लीजेंड क्रिकेटर राहुल द्रविड़, जिनका मैं सबसे ज्यादा सम्मान करता हूं, से पूछना चाहता हूं कि क्या मैंने अपटन से झगड़ा किया था। कब मैंने उन्हें गाली दी।'

श्रीसंत ने आगे कहा, 'मैंने अपटन से कई बार अनुरोध किया कि मुझे वह मैच खेलने दो, क्योंकि मैं चेन्नई को हराना चाहता था। लेकिन उन्होंने इस बात को अलग ढंग से लिया और सोचा मैं इसलिए खेलना चाहता हूं क्योंकि मैं फिक्सिंग में शामिल हूं। हर व्यक्ति जानता है कि मैं सीएसके से कितनी नफरत करता हूं। महेंद्र सिंह धौनी या एन श्रीनिवासन की वजह से लोग ऐसा नहीं कहते। लेकिन मैं पीली शर्ट वाली इस टीम से नफरत करता हूं। इसी वजह से मैं ऑस्ट्रेलिया से भी नफरत करता हूं। मैंने चेन्नई के खिलाफ हमेशा अच्छा प्रदर्शन किया है, इसलिए मैं वह मैच खेलना चाहता था।'

अब सुप्रीम कोर्ट ने श्रीसंत के मैच फिक्सिंग के आरोपों में लगे आजीवन प्रतिबंध को हटा लिया है। कोर्ट ने कहा, 'क्योंकि इस केस को ढंग से हैंडल नहीं किया जा रहा था, इसलिए उन्होंने बीसीसीआई को तीन माह का समय और दिया है ताकि श्रीसंत को सजा दी जा सके।'

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD