संघर्षों भरी है ऋषभ पंत के आग में तपकर कुंदन बनने की कहानी

Jansatta

Jansatta

Author 2019-10-04 14:43:24

img

ऋषभ पंत आज यानी 4 अक्टूबर 2019 को अपना 22वां जन्मदिन मना रहे हैं। ऋषभ पिछले काफी दिनों से चर्चा में हैं। हालांकि, यह चर्चा उनकी खराब फॉर्म को लेकर हो रही है। हालांकि, यह भी सच है कि भले ही वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया में जगह ना बना पाए हों, लेकिन उनकी प्रतिभा पर किसी को संदेह नहीं है। वे टेस्ट कैप पहनने के साथ ही सभी को अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके हैं। वैसे उनके आग में तपकर कुंदन बनने की कहानी काफी संघर्षों भरी है। उन्हें गुरुद्वारे में रात काटनी पड़ी। गुरुद्वारे का लंगर चखकर अपने पेट की आग बुझानी पड़ी।

ऋषभ का जन्म 4 अक्टूबर 1997 को उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में हुआ था। उस समय उत्तराखंड क्रिकेट का कोई भविष्य नहीं था। शायद यही वजह रही कि ऋषभ ने दिल्ली आकर अपने क्रिकेट करियर को संवारने की ठानी। लेकिन इतने बड़े शहर में उनका कोई जानने वाला नहीं था। कोई रास्ता नहीं निकलता देखकर ऋषभ ने ईश्वर की शरण में जाने का फैसला किया। वे दिल्ली के मोतीबाग इलाके में स्थित गुरुद्वारे में रहने लगे। पेट की आग बुझाने के लिए वे गुरुद्वारे में चलने वाले लंगर को चखते थे। उनके साथ उनकी मां भी थीं। मां गुरुद्वारे में सेवा करनी लगीं।

यह ऋषभ का जुनून ही था, जिसने आज उन्हें सफलता की सीढ़ियां चढ़ाईं। क्रिकेट के प्रति उनके जुनून की एक झलक इंडियन प्रीमियर लीग के 2017 के सीजन में भी देखने को मिली थी। आईपीएल 2017 के दौरान उनके पिता राजेंद्र पंत का निधन हो गया। यह समय हर संतान के लिए काफी कठिन था। ऋषभ उस समय महज 20 साल के थे। यह उनके लिए बड़ी मुश्किल घड़ी थी, लेकिन ऐसे समय में भी उन्होंने खुद और परिवार को संभाला। वे पिता के अंतिम संस्कार के दो दिन बाद ही क्रिकेट के मैदान पर लौटे और 50 से ज्यादा रन ठोक डाले। उन्होंने 33 गेंद पर ही अर्धशतक जड़ दिया था।

ऋषभ पंत ने पिछले साल अगस्त में इंग्लैंड के खिलाफ नॉटिंघम में मैच खेलकर टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था। वे अब तक 11 टेस्ट खेल चुके हैं। इसमें उन्होंने 44.35 के औसत से 754 रन बनाए हैं। वे अब तक 51 कैच और 2 स्टम्प भी कर चुके हैं। इतने कम टेस्ट में विकेट के पीछे 50 से ज्यादा शिकार कर वे महेंद्र सिंह धोनी को पीछे छोड़ चुके हैं। धोनी ने 15 टेस्ट में यह उपलब्धि हासिल की थी। वे एक टेस्ट में बतौर विकेटकीपर सबसे ज्यादा कैच लेने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर चुके हैं। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में हुए मैच में 11 कैच लपके थे। ऋषभ के वनडे करियर की बात करें तो पिछले साल अक्टूबर में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने करियर का आगाज करने वाला यह विकेटकीपर बल्लेबाज अब तक 229 रन बना चुका है। टी20 इंटरनेशनल में उनके 20 मैच में 325 रन हैं।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD