सचिन के इस शॉट को कभी नहीं भुला पाएंगे सौरव गांगुली

Rochak Khabare

Rochak Khabare

Author 2019-11-02 22:35:00

img

जब कभी भी सचिन तेंदुलकर का जिक्र किया जाता है तो जैसे लगता है कि पूरा क्रिकेट ही इस एक खिलाड़ी में समाया हुआ है। रिकॉर्ड पारियों के साथ उन्होंने इस खेल में लंबा सफर तय किया है। सचिन ने क्रिकेट में शतकों के शतक के रिकॉर्ड के साथ ही कई अन्य बेहतरीन रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं, जिन्हें तोड़ना हर किसी के बस की बात नहीं है।

सचिन ने मात्र 16 साल की उम्र से ही क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था और अपने पहले ही मैच से उन्होंने अपने हुनर का परिचय पूरी दुनिया को दे दिया था। सचिन ने मैच दर मैच कई शानदार रिकॉर्ड अपने नाम किए। जिन्हें याद कर आज भी लगता है कि वह पुराना समय लौट आया हो। हालांकि इन्हीं रिकॉर्ड के साथ ही सचिन और सौरव के बीच एक बेहद खूबसूरत याद भी जुड़ी हुई है। जिसे याद कर आज भी सचिन और सौरव गांगुली हंसने को मजबूर हो जाते होंगे।

loading...

यह बात 1998 की है। भारतीय टीम शारजाह के दौरे पर थी और यहां कोकाकोला कप टूर्नामेंट में भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड का मुकाबला कर रही थी। इस टूर्नामेंट के फाइनल मैच में भारतीय टीम का सामना ऑस्ट्रेलिया से हुआ था। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारत के खिलाफ 272 रनों का स्कोर खड़ा किया था।

भारत की ओर से सचिन और सौरव गांगुली मैदान पर बल्लेबाज़ी करने उतरे। इस मैच में सचिन की बल्लेबाज़ी देखने लायक थी। वह शुरुआत से ही आक्रामक रुख अख्तियार किए हुए थे, शायद वह गेंदबाजों को अपने ऊपर हावी होने का कोई मौका नहीं देना चाहते थे। हालांकि बेहतरीन बल्लेबाज़ी के बीच छठे ओवर में कुछ ऐसा हुआ कि नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़े सौरव गांगुली अचानक से गिर पड़े और इस वाकये पर सचिन जोर से हंस पड़े।

दरअसल सचिन जब बल्लेबाज़ी कर रहे थे तभी छठे ओवर की एक गेंद पर सचिन ने अपनी पसंदीदा स्ट्रेट ड्राइव खेली। सचिन का यह शॉट इतना तेज था कि सामने खड़े सौरव गांगुली संभल नहीं पाए और पिच पर ही गिर पड़े। इस मामले पर सौरव को समझ ही नहीं आया कि आखिर हुआ क्या है। वहीं इस शॉट को खेलने के बाद सचिन हंसने लगे।

गौरतलब हो कि इस मैच में सचिन ने 134 रनों की शानदार पारी खेली थी, जिसके दम पर भारत ने कोकाकोला कप टूर्नामेंट का फाइनल मैच अपने नाम किया था। सचिन को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच के साथ ही मैन ऑफ द सीरीज़ का खिताब भी प्रदान किया गया था। यह भारतीय क्रिकेट इतिहास का वो वाकया है जिसे याद कर फैंस आज भी हंसने को मजबूर हो जाते हैं।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD