हरभजन सिंह ने बीसीसीआई के नियमों पर उठाए सवाल

Crimenazar

Crimenazar

Author 2019-10-24 14:45:21

विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) के मौजूदा सीजन में कर्नाटक (Karnataka) व तमिलनाडु (Tamilnadu) के बीच खिताबी मुकाबला खेला जाएगा। मगर इस बार टूर्नामेंट में जिस एक शब्द ने सभी टीमों को प्रभावित किया, वो क्रिकेट नहीं बल्कि बारिश है। अधिकांश टीमों के मुकाबलों में बारिश ने खेल बेकार कर दिया। यहां तक कि क्वार्टर फाइनल में ऐसी टीमों पंजाब (Punjab) व मुंबई (Mumbai) को बाहर होना पड़ा जो सेमीफाइनल की होड़ में सबसे आगे नजर आ रही थीं। इसे लेकर टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) व मौजूदा क्रिकेटर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने भी बीसीसीआई (BCCI) के नियमों पर सवाल उठाए थे। दोनों ने नॉकआउट मुकाबलों में रिजर्व डे (Reserve Day) की आवश्यकता पर जोर दिया था। इस मामले पर अब बीसीसीआई के नवनियुक्त अध्यक्ष (BCCI President) सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने भी अपनी चुप्पी तोड़ी है।img

ईएसपीएनक्रिकइंफो के अनुसार, जब बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) से नॉकआउट मुकाबलों में रिजर्व डे (Reserve Day) न होने को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने रिजर्व डे की सम्मान पर सहमति जताई। गांगुली ने कहा, 'जब विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) प्रारम्भ हो रही थी, तब सभी प्रदेश क्रिकेट संघों को इससे संबंधित नियम भेजे जा चुके थे। हम इस बारे में विचार करेंगे व नियमों को सरल बनाने का कोशिश करेंगे। मौजूदा नियम के हिसाब से जो टीमें अधिक मैच जीतेगी वो क्वालीफाई करेगी, इसका मतलब ये हुआ कि लीग चरण में आपके प्रदर्शन का आकलन किया जाएगा। ऐसे में इस नियम को पूरी तरह गलत भी नहीं ठहराया जा सकता। चूंकि क्वार्टर फाइनल व सेमीफाइनल जरूरी दौर होता है, ऐसे में इनके लिए रिजर्व डे रखने की बात व्यवहारिक है। ये एक विकल्प होने कि सम्भावना है। '

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD