‘दमघोंटू धुंध’ के बीच उतरेंगे भारत, बांग्लादेश

Dainik Tribune Online

Dainik Tribune Online

Author 2019-11-03 21:10:56

img

नयी दिल्ली में शनिवार को अरूण जेतली स्टेडियम का एक दृश्य जिसमें रविवार को भारत-बांग्लादेश का टी-20 मैच खेला जायेगा। -प्रेट्र

नयी दिल्ली, 2 नवंबर (भाषा)
पिछले दो दिन से न विश्व कप की तैयारियों की चर्चा है और न ही शाकिब अल हसन के बाहर होने के बाद की परिस्थितियों को लेकर आकलन, बहस बनी हुई है दिल्ली की ‘दमघोंटू धुंध’ जिसमें भारत और बांग्लादेश रविवार को यहां पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय में दमखम दिखाकर अगले साल आस्ट्रेलिया में होने वाले टूर्नामेंट के लिये खुद को परखने के प्रयास की शुरुआत करेंगे। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है और यहां तक कि स्कूलों में छुट्टियां घोषित कर दी गयी हैं। श्रीलंका के खिलाफ दो साल पहले इसी तरह की परिस्थितियों में यहां टेस्ट मैच खेला गया था। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने इस तरह के ‘खतरनाक’ हालात में खेलकूद की किसी भी गतिविधि में शामिल होने से स्पष्ट मना किया है, किंतु भारत और बांग्लादेश दोनों देशों के क्रिकेटरों को विश्वास है कि वे इस तरह की परिस्थितियों से निबटने में सफल रहेंगे।
बांग्लादेश के कोच रसेल डोमिंगो साफ कर चुके हैं कि उनके खिलाड़ियों के लिये यह बहुत बड़ा मसला नहीं है भले ही उनकी टीम ‘मास्क’ लगाकर अभ्यास कर रही थी। भारतीय बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने भी कहा कि एक बार मैदान पर उतरने के बाद यह कोई मुद्दा नहीं रह जाएगा। नियमित कप्तान विराट कोहली को विश्राम दिये जाने के बाद रोहित शर्मा की अगुवाई में भारतीय टीम बांग्लादेश पर अपनी बादशाहत कायम रखने के लिये मैदान पर उतरेगी।
रोहित के साथ शिखर धवन पारी का आगाज करने उतरेंगे। कोहली की अनुपस्थिति में केएल राहुल तीसरे नंबर पर उतर सकते हैं। संजू सैमसन की टीम में वापसी हुई है और तीसरे नंबर के लिये वह भी अच्छे विकल्प हैं लेकिन उन्हें सीधे मौका मिलेगा इसकी संभावना कम है। श्रेयस अय्यर और मनीष पांडे के लिये भी यह श्रृंखला महत्वपूर्ण है। उन्हें दिखाना होगा कि कोहली की गैरमौजूदगी में भारतीय मध्यक्रम कमजोर नहीं है। मध्यक्रम में हालांकि ऋषभ पंत पर सभी की निगाहें रहेंगी जो दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में नहीं खेले थे।
पंत पर रहेगी निगाह
पंत यह जानते हैं कि उन्हें विकेट के आगे और विकेट के पीछे दोनों भूमिकाओं में उम्मीदों पर खरा उतरना होगा क्योंकि सैमसन विकल्प के तौर पर टीम में मौजूद हैं। हार्दिक पंड्या और रविंद्र जडेजा की अनुपस्थिति में आलराउंडर शिवम दुबे के पास खुद को साबित करने का यह बेहतरीन मौका है। दायें हाथ के मध्यम गति के गेंदबाज और बायें हाथ के बल्लेबाज दुबे की ‘बिग हिटर’ बनने की क्षमता की भी यह परीक्षा होगी। अगर वह टीम में जगह बनाते हैं तो भारत दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर और खलील अहमद में से किन्हीं दो तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकता है।
यजुवेद्र चहल का जगह पक्की करने पर ध्यान
स्पिन विभाग में युजवेंद्र चहल की फिर से वापसी हुई है। राहुल चाहर के रूप में टीम में एक अन्य लेग स्पिनर है। चहल वनडे विश्व कप के बाद से टीम से बाहर थे और अब वह अपनी जगह मजबूत करने पर ध्यान देंगे।

img

बांग्लादेश के खिलाड़ी मास्क लगाकर अभ्यास करते हुए। -प्रेट्र

शाकिब, तमीम की खलेगी कमी
जहां तक बांग्लादेश का सवाल है तो उन्हें शाकिब की बड़ी कमी खलेगी जिन्हें भ्रष्ट संपर्क की सूचना नहीं देने के कारण आईसीसी ने दो साल के लिये निलंबित कर रखा है।बांग्लादेश के कप्तान महमुदुल्लाह और कोच डोमिंगो को उम्मीद है कि खिलाड़ी इससे निराश होने के बजाय प्रेरणा लेंगे। शाकिब और तमीम इकबाल की अनुपस्थिति में बांग्लादेश की बल्लेबाजी कमजोर हो गयी है। ऐसे में महमुदुल्लाह, लिटन दास, मुशफिकुर रहीम और सौम्या सरकार जैसे अनुभवी बल्लेबाजों की भूमिका महत्वपूर्ण बन जाती है। गेंदबाजी में उसकी निगाह मुस्तफिजुर रहमान पर टिकी रहेगी।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD