3 रिकॉर्ड विराट कोहली अपने करियर में कभी नहीं तोड़ पाएंगे

friends show

friends show

Author 2019-10-30 17:29:10

imgThird party image reference

विश्व क्रिकेट में चारों ओर अभी तक एक ही नाम गूंज रहा है और वह विराट कोहली है। इस समय खेल के तीनों प्रारूप में इस बल्लेबाज ने धाकड़ प्रदर्शन कर श्रेष्ठता साबित की है। उन्हें बेहतर खिलाड़ी माना जाता है। खेल के अलावा उन्होंने खुद में चमत्कारिक परिवर्तन कर फिटन के भी नए आयाम लिखे हैं। विश्व क्रिकेट से सबसे फिट क्रिकेटरों में से एक विराट कोहली भी माने जाते हैं। उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने सफलता की कई सीढियां चढ़ी है और लगातार अच्छा प्रदर्शन भी कर रही है।

कई रिकॉर्ड इस खिलाड़ी ने अब तक अपने नाम किए हैं और आने वाले दिनों में अनेकों नए कीर्तिमान स्थापित करने अभी बाकी हैं। कुछ ऐसे रिकॉर्ड हैं जो फिलहाल उनकी पहुंच से बाहर नजर आ रहे हैं। आने वाले समय में भी उन्हें तोड़ना कोहली के लिए आसान नजर नहीं आ रहा है। हम यहां 3 ऐसे रिकॉर्ड की बात करेंगे, जिन्हें भारतीय कप्तान शायद नहीं तोड़ पाएंगे।


3. टेस्ट मैच की एक पारी में 400* रन 

imgThird party image reference

भारतीय कप्तान ने प्वाइंटर्स समय में टेस्ट क्रिकेट में संघर्ष किया लेकिन अब ऐसा नहीं है। उन्होंने लाल गेंद के प्रारूप में उम्दा प्रदर्शन करते हुए हर जगह रन बनाए हैं। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने अब तक खेलकर 26 शतक जड़े हैं। इसमें उन्होंने 7 दोहरे शतक लगाए हैं और एक पारी में उन्होंने 254 * रन बनाए हैं। विश्व रिकॉर्ड की बात की जाए, तो यह वेस्टइंडीज के पूर्व खिलाड़ी ब्रायन लारा के नाम है। उन्होंने 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ नाबाद 400 रनों की पारी खेली थी। विराट कोहली का यह रिकॉर्ड तक पहुंचना नामुमकिन नजर आ रहा है। कोहली ने अब तक करियर में एक भी तिहरा शतक नहीं जड़ा है इसलिए 400 रन की बात करना थोड़ा बहुत होगा।


2. वनडे क्रिकेट की एक पारी में 264 रन

imgThird party image reference

सभी तरह की क्षमताओं के पूर्ण भारतीय कप्तान अपने साथी खिलाड़ी रोहित शर्मा के वन-डे क्रिकेट में बनाए बड़े रिकॉर्ड के आस-पास भी नजर नहीं आते हैं। रोहित शर्मा ने श्रीलंका के खिलाफ मैच में एक ही बार में 264 रन बनाए थे। यह विश्व रिकॉर्ड भी है। अब तक कोई खिलाड़ी नहीं पहुंचा है। विराट कोहली के नाम वन-डे क्रिकेट में 43 शतक हैं और 183 रन उनका बस है। अब तक उन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में एक बार भी दोहरा शतक नहीं लगाया है जबकि रोहित शर्मा ऐसा तीन बार कर चुके हैं।

विराट कोहली बल्लेबाजी के लिए तीसरे स्थान पर आते हैं इसलिए कई बार उन्हें बल्लेबाजी के लिए इंतजार के बाद आना पड़ता है। इसके अलावा गेंदबाज भी पुराने होते हैं। रोहित शर्मा की तरह विराट कोहली शतक बनाने के बाद लम्बे समय तक क्रीज पर नहीं रुकते हैं और यही कारण है कि वे यह रिकॉर्ड शायद नहीं तोड़ पाएंगे।


  1. 200 टेस्ट मैच
imgThird party image reference

विराट कोहली इस बार 30 साल के हैं और 82 टेस्ट मैच खेल चुके हैं। पूर्व महान भारतीय खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने करियर में 200 टेस्ट की तुलना में खेले और विश्व रिकॉर्ड कायम किया। कोहली अगले 8 साल तक खेलते हैं और हर साल औसतन 10 से 12 टेस्ट मैच खेलने के बाद भी 200 टेस्ट मैच खेलने के आंकड़े तक नहीं पहुंच सकते हैं। देखा जाए तो अगले 10 साल लगातार स्पोर्टकर भी 200 टेस्ट मैचों के आंकड़े तक पहुंचना आसान नहीं होगा। सचिनंदुलकर ने 24 साल की इंटरनैशनल क्रिकेट खेली तो यह उपलब्धि हासिल की।

कोहली टेस्ट के अलावा वन-डे और टी 20 और आईपीएल में भी सक्रिय रहते हैं इसलिए बहुत ज्यादा टेस्ट मैच खेलना मुश्किल नजर आता है। इस रिकॉर्ड को पाने के लिए उन्हें बिना आराम किए खेलना पड़ेगा। यह कीर्तिमान आने वाले कई वर्षों तक टूटना कठिन कार्य लगता है।

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD