Cricket Records: वो तीन मैच जिसमें फॉलोऑन खेलने वाली टीम ने जीता मैच

friends show

friends show

Author 2019-10-15 17:55:02

imgThird party image reference

क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में से टेस्ट फॉर्मेट को सबसे ज्यादा रोमांचक और दिलचस्प माना जाता है। इसमें हर टीम को बल्लेबाजी और गेंदबाजी करने का दो-दो बार मौका मिलता है। लेकिन कभी-कभी एक टीम सिर्फ एक बार ही बल्लेबाजी करती है। ऐसा तब होता है, जब पहली टीम बल्लेबाजी करते हुए बड़ा स्कोर बना ले और विरोधी टीम सस्ते में निपट जाए। ऐसे में विरोधी टीम को फिर से बल्लेबाजी करते हुए बची हुई लीड को पूरा करके सामने वाली टीम को एक टारगेट देना पड़ता है।

इस प्रक्रिया को क्रिकेट की भाषा में फॉलोऑन खेलने कहा जाता है। हाल में ही भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका को फॉलोऑन खेलने के लिए आमंत्रित किया था। जिसके जवाब में दक्षिण अफ्रीकी टीम दूसरी पारी में भी लीड को पूरा नहीं कर सकी और वह एक पारी और 137 रनों से मुकाबला हार गई।

टेस्ट में फॉलोऑन खेलते हुए जीत हासिल करना किसी भी टीम के लिए आसान नहीं होता है। लेकिन क्रिकेट इतिहास में कुछ ऐसे मुकाबले हुए हैं, जिसमें फोटोनेन खेलने वाली टीम विजेता बनी हुई है। आज हम आपको ऐसे ही तीन मुकाबलों के बारे में बताने वाले हैं।


1. इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया (14 दिसंबर, 1894)

imgThird party image reference

फॉल्टऑन खेलते हुए पहली बार जीत दर्ज करने वाली टीम इंग्लैंड है। इंग्लैंड ने 1894 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फॉलोऑन खेलने के बाद 10 रनों से मैच जीता था। 7 दिनों वाले इस टेस्ट की तुलना में ऑस्टेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 586 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से पहली पारी में जॉर्ज गिफेन ने 161 और सिडनी एडवर्ड ग्रेगरी ने 201 रन बनाए। इसके जवाब में इंग्लैंड की पूरी टीम पहली पारी में 325 रनों पर सिमट गई। ऑस्ट्रेलिया को इस तरह से 261 रनों की बढ़त मिली।

इंग्लैंड की टीम ने दूसरी पारी में फॉलोऑन खेलते हुए अल्बर्ट वार्ड (117) के शतक की बदौलत 437 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया को इस मुकाबले को जीतने के लिए 177 रनों का लक्ष्य मिला, लेकिन पूरी टीम दूसरी पारी में 166 रनों पर ऑउटआउट हो गई, और इंग्लैंड ने इस मुकाबले को 10 रनों से जीत लिया।


2. इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया (16 जुलाई, 1981)

imgThird party image reference

1981 में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को दूसरी बार फोटोऑन खेलते हुए 18 रनों से मात दी थी। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। ऑस्ट्रेलिया ने जॉन डायसन (102) के शतक की मदद से अपनी पहली पारी 401/9 पर घोषित कर दी। इसके जवाब में इंग्लैंड की टीम पहली पारी में 174 रनों पर बस गई, और ऑस्ट्रेलिया को 227 रनों की बढ़त हासिल हुई।

दूसरी पारी में इंग्लैंड ने फॉलोऑन खेलते हुए 356 रन बनाए। इस पारी में इयान बॉथम ने 149 रन जड़े थे। ऑस्ट्रेलिया को इस मुकाबले को जीतने के लिए 130 रन बनाने थे, लेकिन ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम 111 रनों पर सिमट गई। इंग्लैंड की तरफ से बॉब विलिस ने दूसरी पारी में 43 रन देकर 8 विकेट हासिल किए। इयान बॉथम को उनकी पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया था।


3. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (कोलकाता, 2001)

imgThird party image reference

भारतीय टीम ने भी फॉलोऑन खेलते हुए जीत दर्ज करने का कारनामा एक बार किया है। 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फोटॉनन खेलने के बाद भारत ने 171 रनों से मुकाबला जीतकर इतिहास रच दिया था। इसके चर्चे आज भी लोग करते हैं। 2001 में ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत दौरे पर आई थी, और दोनों टीमों के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच कोलकाता के ईडन गार्डेन में खेला जा रहा था।

इसके मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान अश्विन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। ऑस्टेलिया ने अपनी पहली पारी में चिली वॉ (110) और मैथ्यू हेडन (97) की पारियों की मदद से 445 रनों का स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में पूरी भारतीय टीम अपनी पहली पारी में 171 रन पर ऑल आउट हो गई, और ऑस्ट्रेलिया को 274 रनों की विशाल बढ़त मिली।

भारतीय टीम से फॉलोऑन खेलने के लिए कहा गया और सभी को लग रहा था कि टीम इंडिया ये मैच हार जाएगी। हालांकि भारत के शिष्यों ने दूसरी पारी में शानदार बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट खोकर 657 रनों की पारी घोषित की। भारत की ओर से दूसरी पारी में वीवीएस लक्ष्मण ने 281 और राहुल द्रविड़ ने 180 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया को इस मुकाबले को जीतने के लिए अब दूसरी पारी में 384 रन बनाने थे, लेकिन पूरी टीम 212 रन पर सिमट गई। शानदार पारी के लिए वीवीएस लक्ष्मण को मैन ऑफ द मैच चुना गया था।

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN