ICC ने बताया- बुकी और शाकिब के बीच क्या बात हुई थी

The Quint

The Quint

Author 2019-10-30 06:52:06

बांग्लादेश के टेस्ट और टी20 कप्तान शाकिब अल हसन पर 2 साल का प्रतिबंध लगाने के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने इस क्रिकेटर की बुकी के साथ हुई बातचीत की डिटेल्स जारी की हैं. ICC ने बताया है कि दीपक अग्रवाल नाम के बुकी ने पहली बार साल 2017 में शाकिब से संपर्क किया था और तब से वो लगातार शाकिब के संपर्क में था.

नवंबर 2017 में जब शाकिब ढाका डायनामाइट्स टीम के सदस्य थे, तभी किसी ने उनका नंबर बुकी अग्रवाल को दिया था. दरअसल जिस शख्स ने शाकिब का नंबर दिया था, अग्रवाल ने उससे बांग्लादेश प्रीमियर लीग के खिलाड़ियों के नंबर मांगे थे.

19 जनवरी, 2018 को शाकिब को अग्रवाल का एक मेसेज आया था. अग्रवाल ने इस मेसेज में बांग्लादेश, जिम्बॉम्वे और श्रीलंका की त्रिकोणीय सीरीज के एक मैच में शाकिब को 'मैन ऑफ मैच' बनने की बधाई दी थी. इसके बाद बुकी ने अगले मेसेज में लिखा- ''क्या हम इस (सीरीज) में काम करेंगे या फिर मैं IPL तक इंतजार करूं.'' इस 'मेसेज' में 'काम' का संदर्भ अंदरूनी जानकारी देने से जुड़ा था.

इसके बाद 23 जनवरी, 2018 को शाकिब को अग्रवाल का एक और मेसेज आया, जिसमें उसने लिखा- ''भाई इस सीरीज में कुछ है क्या?''

शाकिब भी इस बात की पुष्टि कर चुके हैं कि यह मेसेज अग्रवाल को उस दौरान चल रही सीरीज से जुड़ी जानकारी देने के बारे में था.

हालांकि शाकिब ने इस बात की जानकारी ना तो ICC की भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई को दी और ना ही किसी और अथॉरिटी को. IPL 2018 के दौरान भी अग्रवाल ने अंदरूनी जानकारी के लिए शाकिब से संपर्क किया था.

अग्रवाल ने शाकिब को बिटकॉइन्स और डॉलर अकाउंट्स को लेकर भी मेसेज किया था और शाकिब से उनकी अकाउंट डिटेल्स भी पूछी थीं. इस बातचीत के दौरान शाकिब ने अग्रवाल से कहा था कि वो पहले उससे मिलना चाहते हैं.

ऐसे में 32 साल के शाकिब पर ICC ने 29 अक्टूबर को एंटी करप्शन कोड के उल्लंघन के मामले में 2 साल का प्रतिबंध लगा दिया. शाकिब पर एक साल का पूर्ण प्रतिबंध और 12 महीने का निलंबित प्रतिबंध लगाया गया है. यह तब लागू होगा अगर शाकिब ICC की भ्रष्टाचार निरोधक संहिता का पालन नहीं करते हैं.

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD