IInd vs SA 1st Test Live: दक्षिण अफ्रीका जीत से 384 रन दूर, भारत को चाहिए 9 विकेट

Nai Dunia

Nai Dunia

Author 2019-10-05 21:25:50

naidunia.jagran.com

img

विशाखापत्तनम। भारत के रोहित शर्मा के शानदार शतक (127) और चेतेश्वर पुजारा (81) की बेहतरीन पारियों की मदद से शनिवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट की दूसरी पारी में बड़ा स्कोर बनाया। भारत ने 4 विकेट पर 323 रन बनाकर अपनी पारी घोषित की। पहली पारी की 71 रनों की लीड मिलाकर भारत ने दक्षिण अफ्रीका के सामने 395 रनों का लक्ष्य रखा। भारत की पहली पारी के 7 विकेट पर 502 रनों के जवाब में दक्षिण अफ्रीका ने अपनी पहली पारी में 431 रन बनाए थे।

चौथे दिन का खेल समाप्त होने दक्षिण अफ्रीका ने 9 ओवर में विकेट खोकर 11 रन बना लिए हैं। फिलहाल एडन मार्करैम 3 और थ्यूनिस ब्रुइन 5 रन बनाकर क्रीज पर हैं।

भारत ने डीन एल्गर का बड़ा विकेट झटका। बता दें कि एल्गर ने पहली पारी में शानदार शतक जमाया था। लेकिन दूसरी पारी में वे केवल 2 रन बनाकर जडेजा की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए। अब मैच के अंतिम दिन दक्षिण अफ्रीका को जीत के लिए 384 रनों की जरुरत है, जबकि भारत की कोशिश जल्द से जल्द 9 विकेट लेने की रहेगी।

भारत को पहली पारी में 71 रनों की बढ़त मिली लेकिन दूसरी पारी में उसकी शुरुआत खराब रही। पहली पारी में दोहरा शतक लगाने वाले मयंक अग्रवाल दूसरी पारी में मात्र 7 रन बनाकर आउट हुए। वे केशव महाराज की गेंद पर स्लिप में फॉफ डु प्लेसिस को कैच थमा बैठे।

इसके बाद रोहित ने पुजारा के साथ शानदार साझेदारी की। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 169 रन जोड़े। रोहित ने पहली पारी के फॉर्म को दूसरी पारी में भी जारी रखा। उन्होंने 72 गेंदों में 3 चौकों और 3 छक्कों की मदद से अर्द्धशतक पूरा किया। यह उनकी टेस्ट क्रिकेट में 11वीं फिफ्टी है। इसके बाद रोहित ने रिकॉर्ड शतक लगाया। ये उनका इस मैच में दूसरा शतक रहा। उधर पुजारा अपने अर्द्धशतक को शतक में नहीं बदल सके। पुजारा 81 रन (148गेंद, 13 चौके, 2 छक्के) बनाकर फिलेंडर की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हुए।

इसके बाद रोहित ने अपना रिकॉर्ड शतक पूरा किया। रोहित एक टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जमाने वाले दुनिया के पहले ओपनर बल्लेबाज बने। वे 127 रन बनाकर केशव महाराज की गेंद पर स्टम्प्स आउट हुए। अपनी पारी में उन्होंने 149 गेंदें खेलीं और 13 चौके व 2 छक्के लगाए। इनके अलावा रवींद्र जडेजा ने 40 रन बनाए। कप्तान विराट कोहली 31 और अजिंक्य रहाणे 27 रन बनाकर नाबाद रहे। इस तरह दक्षिण अफ्रीका को 395 रनों का लक्ष्य मिला।

इससे पहले रविचंद्रन अश्विन ने 7 विकेट लेते हुए दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी को 431 रनों पर समेटने में अहम भूमिका निभाई थी। भारत ने पहली पारी 7 विकेट पर 502 रन बनाकर घोषित की थी। दक्षिण अफ्रीका ने चौथे दिन सुबह पहली पारी में 385/8 से आगे खेलना शुरू किया और उसे दिन का पहला झटका जल्दी लग गया। केशव महाराज (9) ने अश्विन की गेंद पर लंबा शॉट लगाने का प्रयास किया लेकिन वे लांग ऑन पर मयंक अग्रवाल के हाथों लपके गए। अश्विन ने इसके बाद कगिसो रबाडा (15) को एलबीडब्ल्यू किया और दक्षिण अफ्रीका की पारी 431 रनों पर समाप्त हुई। सेनुरान मुथुस्वामी 33 रन बनाकर नाबाद रहे। अश्विन सबसे सफल गेंदबाज रहे, उन्होंने 145 रनों पर 7 विकेट लिए। रवींद्र जडेजा ने 124 रनों पर 2 विकेट लिए जबकि ईशांत ने 1 विकेट लिया।

पांचवां श्रेष्ठ प्रदर्शन :

यह अश्विन का किसी टेस्ट पारी में पांचवां श्रेष्ठ प्रदर्शन है। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2016-17 में इंदौर में न्यूजीलैंड के खिलाफ रहा था जब उन्होंने 59 रन देकर 7 विकेट लिए थे। यह अश्विन का दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरा श्रेष्ठ प्रदर्शन है। इस टीम के खिलाफ उन्होंने 2015-16 में नागपुर में 66 रनों पर 7 विकेट लिए थे।

सीरीज शुरू होने से पहले ऐसा माना जा रहा था कि भारत के लिए अपेक्षाकृत कमजोर दक्षिण अफ्रीकी टीम को हराना आसान होगा लेकिन अनुभवी डीन एल्गर और क्विंटन डी कॉक ने शतकीय पारियां खेल अपनी टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया। एल्गर ने 160 रनों की शानदार पारी खेली, वे इस शतक को हमेशा याद रखेंगे क्योंकि भारत में भारतीय स्पिनरों का सामना करते हुए उन्होंने इतनी महत्वपूर्ण पारी खेली हैं। क्विंटन डी कॉक का सीमित ओवरों में तो भारत के खिलाफ शानदार रिकॉर्ड रहा है और उन्होंने अब टेस्ट क्रिकेट में और विशेषकर भारत में पहले टेस्ट में शानदार शतक जड़ते हुए अपनी टीम को खराब स्थिति से उबार दिया। डी कॉक के शतक (111) और उनके तथा एल्गर के बीच छठे विकेट के लिए 164 रनों की साझेदारी से ही मेहमान टीम संभली थी।

Read Source

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD