IND vs SA: भारत बना सकता है विश्वकप में अफ्रीका की राह और मुश्किल

Asiaville

Asiaville

Author 2019-09-17 15:35:14

img

सभी भारतीय फैंस का इंतज़ार खत्म हुआ क्योंकि फाइनली टीम इंडिया वर्ल्ड कप का अपना पहला मैच आज दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ़ रोज़ बाउल, सॉउथंपटन में खेलेगी. भारत इस विश्वकप की इकलौती ऐसी टीम है, जिसने टूर्नामेंट में अब तक एक भी मैच नहीं खेली है.

img

ODI रैंकिंग में विश्व की नंबर 2 की टीम इंडिया काफी मज़बूत नज़र आ रही है. कोहली की अगुवाई वाली ये टीम चाहेगी कि आज जीत से शुरुआत कर दक्षिण अफ्रीका के लिए इस विश्वकप में आगे की राह और मुश्किल कर दें.

पिच और ग्राउंड कंडीशन:

रोज़ बाउल सॉउथंपटन में खेले गए आख़िरी मुक़ाबले में 700 से ज़्यादा रन बने थे. तो पिच बैटिंग के लिए शानदार नज़र आती है. हालांकि विश्वकप में अभी तक लगभग सारी टीमों ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का ही फैसला लिया है. तो बहुत मुमकिन है कि आज भी ये क़िस्सा दोहराए. भारत के पास बैटिंग लाइन-अप काफी तगड़ी है तो भारत चेज़ करना चाहेगा.

img

दोनों टीमों की चिंताए और चुनौतियां

टीम इंडिया के सामने कुछ ख़ास चिंताएं नहीं है, लेकिन न्यूजीलैंड से पहला प्रैक्टिस मैच 6 विकेट से हारने के बाद टीम चाहेगी कि दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ़ अच्छा प्रदर्शन करे. छठे नंबर पर किसको खिलाया जाए, इस पर अभी भी ससपेंस बना हुआ है. केदार जाधव, विजय शंकर और रवीन्द्र जडेजा में कौन सा खिलाड़ी टीम में रहता है, ये चुनना एक चुनौती है. ओपनिंग जोड़ी का फॉर्म से बाहर होना भी टीम इंडिया के लिए चिंता का सबब है.

img

वहीं, अगर बात करे साउथ अफ्रीका की टीम की, तो उसके सामने चिंताए ही चिंताए हैं.

दक्षिण अफ्रीका अपने शुरुआती दोनों मैच हारी है. पहले मुकाबले में उसे मेज़बान इंग्लैंड ने पटखनी दी. वहीं दूसरी मुकाबले में बांग्लादेश जैसी टीम से मुंह की खानी पड़ी. दोनों ही मुक़ाबलों में दक्षिण अफ्रीका ने 300 से ऊपर रन खाए. यानी जो डिपार्टमेंट अफ्रीका का मज़बूत माना जा रहा था, वही सबसे फिसड्डी साबित हुई. ऊपर से चोट और फिटनेस ने दक्षिण अफ्रीका की चिंता और बढ़ा दी है. लुंगी एनगिडी चोटिल हैं.

टीम के सबसे तज़ुर्बेदार तेज़ गेंदबाज़ डेल स्टेन कंधे की चोट की वजह से वर्ल्ड कप से बाहर हो गए हैं. स्टेन की जगह बेउरान हेन्ड्रिक्स को टीम में शामिल किया गया है, जो अभी तक सिर्फ़ दो ही ODI खेले हैं. दक्षिण अफ्रीका स्पिन के ख़िलाफ़ भी कुछ ख़ास सहज नहीं नज़र आती और आज के मैच में भी कुलदीप यादव और युज़वेंद्र चहल इसका फायदा उठा सकते हैं.

img

दोनों टीमों की ताक़तें

टीम इंडिया ने पहला वार्म अप गेम न्यूजीलैंड से हारने के बाद बांग्लादेश के ख़िलाफ़ शानदार वापसी की और बांग्लादेश को 95 रनों से हराया. वहीं जिस नंबर चार की परेशानी से टीम इंडिया जूझ रही थी शायद केएल राहुल के रूप में उन्हें नंबर 4 का बल्लेबाज़ भी मिल गया है. राहुल ने बांग्लादेश के ख़िलाफ़ 108 रन की शानदार पारी खेली थी. वहीं, टीम में रोहित शर्मा और शिखर धवन दो शानदार ओपनर हैं.

विश्व के नंबर 1 बल्लेबाज़ विराट कोहली टीम की कमान को संभाले हुए है. पिछले मैच में विंटेज एमएस धोनी भी शानदार फॉर्म में नज़र आए. हार्दिक पंड्या बड़े-बड़े हिट्स मारने की क्षमता रखते है.

img

निचले क्रम में वो टीम इंडिया को लंबा स्कोर चेज़ करने में मददगार साबित हो सकते हैं. अगर गेंदबाजी की बात करें तो टीम में विश्व के नंबर 1 गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार जैसे तेज़ गेंदबाज है. मोहम्मद शमी फॉर्म में हैं. स्पिनर कुलदीप यादव और युज़वेंद्र चहल की जोड़ी भी टीम की स्पिन यूनिट को बखूबी संभालेंगे. पिछले मुकाबले में दोनों स्पिनर्स ने मिलकर बांग्लादेश के 6 बल्लेबाज़ों को चलता किया था.

दक्षिण अफ्रीका की ताकत

बात करें अगर साउथ अफ्रीका की, तो उनके लिए अच्छी बात ये है कि पिछले मुक़ाबले में 331 रन के टारगेट का पीछा करते हुए 309 रन बनाने में साउथ अफ्रीकन टीम क़ामयाब रही. एक राहत ये भी है कि हाशिम अमला आज के गेम में वापसी कर सकते है. इससे टॉप आर्डर पर बल्लेबाज़ी क्रम ठीक हो जाएगा. टीम के कप्तान फैफ डु प्लेसी अच्छे फॉर्म में नज़र आए हैं. वहीं टीम में एडेन मारक्रम, डेविड मिलर और जेपी डुमिनी जैसे बल्लेबाज़ शामिल है. गेंदबाज़ी की बात करें तो टीम में कागिसो रबाडा की तेज़ गेंदबाज़ी और इमरान ताहिर की स्पिन और एक्सपीरियंस भारत के ख़िलाफ़ दक्षिण अफ्रीका के काम आएगा.

आंकड़े क्या कहते है

दोनों टीमें एक-दूसरे के ख़िलाफ़ 83 मैच खेल चुकी हैं. इनमें से 34 मुक़ाबले टीम इंडिया ने जीते, वहीं 46 मुक़ाबलों में दक्षिण अफ्रीका ने बाज़ी मारी.

img

वर्ल्ड कप में हुए मुक़ाबलों की बात करें तो यहां भी दक्षिण अफ्रीका का ही पलड़ा भारी है. दोनों एक-दूसरे से 4 बार भिड़ चुकी हैं और इनमें से 3 मुक़ाबले दक्षिण अफ्रीका ने जीती और भारत के खाते में अब तक एक ही जीत दर्ज हो पाई है. तो वर्ल्ड कप के ट्रैक रिकॉर्ड को देख के तो लगता है कि दक्षिण अफ्रीका का पलड़ा भारी है, लेकिन जिस तरह की इस बार की भारतीय टीम है उसे हरा पाना साउथ अफ्रीका के लिए आसान नहीं होगा.

(हमें फ़ेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो करें)

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN