India Pakistan cricket ties: एशिया कप 2020 को लेकर पाकिस्तान और भारत फिर आमने-सामने

Nai Dunia

Nai Dunia

Author 2019-09-30 18:00:07

naidunia.jagran.com

img

कराची (एजेंसियां)। भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट संबंधों को लेकर स्थिति फिलहाल ठीक नहीं नजर आ रही है। अब ताजा मामले में पाकिस्तान ने अगले साल होने वाले एशिया कप में भाग लेने की पुष्टि के लिए भारत के सामने समय सीमा निर्धारित कर दी है। दरअसल पाकिस्तान के लिए भारत की हां या ना बहुत मायने रखती है। भारत के ना करने पर पाकिस्तान से टूर्नामेंट की मेजबानी जा सकती है।

बता दें कि एशिया कप अगले साल सितंबर में पाकिस्तान में आयोजित होना है। ऐसे में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड को टूर्नामेंट में शामिल होने की पुष्टि करने के लिए अगले जून 2020 का समय निर्धारित किया है।

PCB के सीईओ वसीम खान ने कहा - हमें पता होना चाहिए कि क्या भारत हमारे यहां आयोजित एशिया कप में खेलेगा या नहीं। हमें पता होना चाहिए कि भारतीय टीम पाकिस्तान आने को सहमत है या नहीं। जून तक हमें पता होना चाहिए कि ये टूर्नामेंट हमारे यहीं होगा या फिर कोई दूसरा देश इसकी मेजबानी करेगा। साथ ही हमें भारत के पाकिस्तान में नहीं खेलने की वजह भी स्पष्ट होनी चाहिए। बता दें कि ये टूर्नामेंट फिलहाल सितंबर 2020 में पाकिस्तान में होना तय है, पर यदि भारत ने पाकिस्तान में खेलने से इंकार कर दिया तो पाकिस्तान से इस टूर्नामेंट की मेजबानी छीनी जा सकती है। वसीम खान ने कहा- टूर्नामेंट को स्थानांतरित करने का अंतिम फैसला एशियाई क्रिकेट परिषद और आईसीसी करेगा। तय कार्यक्रम के मुताबिक एशिया कप हमारे यहां होना है और हम भारत की मेजबानी के लिए तैयार हैं। हम इस टूर्नामेंट का आयोजन करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

गौरतलब है कि भारत और पाकिस्तान के बीच जारी राजनीतिक तनाव के चलते दोनों देशों के द्विपक्षीय क्रिकेट संबंधों पर भी असर पड़ा है और लंबे समय से दोनों के बीच कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं हुई है। यहां तक की बीते 10 सालों में पाकिस्तान में ही सुरक्षा कारणों से कोई बड़ी टीम द्विपक्षीय सीरीज खेलने नहीं पहुंची है। हाल ही में श्रीलंकाई टीम 3-3 मैचों की वनडे और टी20 सीरीज के लिए पाकिस्तान दौरे पर है।

लेकिन भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव जारी है। हालांकि वसीम खान ने कहा - हम राजनीतिक मसले समझते हैं। हमें बीसीसीआई से कोई परेशानी नहीं है। बोर्ड स्तर पर हमारे काफी अच्छे रिश्ते हैं। एक बात और है कि हम भारत से द्विपक्षीय श्रृंखला के लिए पीछे नहीं पड़ रहे। अगर भारत खेलना चाहता हैं तो उसे हमें बताना होगा। यदि भारत हमारे साथ तटस्थ स्थल पर खेलने को राजी होता है तो भी हमें कोई परेशानी नहीं है। हम तैयार है। लेकिन उन्हें इसके लिए प्रतिबद्धता तो दिखानी होगी।

बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच दिसंबह 2012 में अंतिम द्विपक्षीय सीरीज खेली गई थी। उस समय भारत में 3 वनडे और 2 टी20 मैच खेले गए गए। उससे पहले भारत ने पाकिस्तान का दौरा किया था।

Read Source

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD