IPL में राजनीतिक विज्ञापन दिखाने को BCCI की ना

Asiaville

Asiaville

Author 2019-09-17 15:56:08

img

बोर्ड ऑफ़ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया यानी बीसीसीआई ने आईपीएल के दौरान राजनीतिक विज्ञापन दिखाने की अपील ठुकरा दी है. आईपीएल के प्रसारणकर्ता स्टार इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने बीसीसीआई से अनुरोध किया था कि इस टी20 टूर्नामेंट के दौरान राजनीतिक विज्ञापन दिखाने की छूट दी जाए.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़ 23 मार्च से शुरू हो रहे आईपीएल मैचों से पहले स्टार इंडिया ने कहा था कि मीडिया अधिकार समझौते के उपबंध 8.6 (बी) को रद्द किया जाए ताकि लाइव और रिकॉर्डेड प्रसारण के दौरान वो राजनीतिक और धार्मिक विज्ञापन दिखा सके.

सोमवार को विस्तृत चर्चा के बाद बीसीसीआई ने कहा कि मौजूदा नीतियों में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा. बीसीसीआई ने साफ़ कहा कि किसी भी अंतरराष्ट्रीय या घरेलू टूर्नामेंट के दौरान वो किसी भी तरह के राजनीतिक-धार्मिक विज्ञापन को अपने बैनर तले प्रसारित नहीं होने देगा.

img

लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र स्टार इंडिया राजनीतिक विज्ञापन के ज़रिए मोटी कमाई करना चाहता था और इसी लिहाज से पिछले हफ़्ते उसने बीसीसीआई को चिट्ठी लिखकर नियमों में छूट की अपील की थी.

आपको बता दें कि अप्रैल-मई के दौरान देश में लोकसभा चुनाव होने हैं और आईपीएल 23 मार्च से शुरू हो रहा है और दोनों के शेड्यूल कई हफ़्तों तक साझे हैं. इससे पहले 2009 और 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान सुरक्षा कारणों से देश में आईपीएल टूर्नामेंट नहीं हुए थे.

सरकार ने इन मैचों के लिए पर्याप्त सुरक्षा बल नहीं होने के हवाला दिया था. आईपीएल शुरू होने के बाद ये पहला मौक़ा है जब लोकसभा चुनाव के दौरान देश में ये टूर्नामेंट होगा.

बीसीसीआई और स्टार इंडिया के बीच हुए मीडिया अधिकार समझौते के उपबंध 8.6 (बी) के मुताबिक़ प्रसारण के दौरान कोई भी धार्मिक या राजनीतिक विज्ञापन दिखाने पर पाबंदी है. स्टार इंडिया इसी नियम में छूट मांग रहा था. आपको बता दें कि सितंबर 2017 में 16,346 करोड़ रुपए में स्टार इंडिया ने बीसीसीआई से मैच प्रसारण का अधिकार लिया था और इसके बाद से वो मैचों के ज़रिए ज़्यादा से ज़्यादा कमाई की कोशिश में है.

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN