IPL 2018 के भ्रष्टाचार से जुड़े मामले ICC देख रही थी: BCCI ACU चीफ

The Quint

The Quint

Author 2019-03-29 17:26:45

img

बीसीसीआई की भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई के प्रमुख अजीत सिंह ने मंगलवार 29 अक्टूबर को कहा कि आईपीएल 2018 के दौरान शाकिब अल हसन द्वारा भ्रष्टाचार निरोधक आचार संहिता के उल्लंघन की जांच पूरी तरह से आईसीसी कर रही है.

शाकिब पर आईसीसी ने दो साल का प्रतिबंध लगा दिया है जिन्होंने तीन बार कथित तौर पर भारतीय सटोरिये दीपक अग्रवाल द्वारा पेशकश किये जाने की जानकारी नहीं दी थी. इनमें से एक घटना आईपीएल 2018 की है.

राजस्थान के पूर्व डीजीपी सिंह ने कहा ,

‘‘उस आईपीएल सत्र में भ्रष्टाचार निरोधक मामले आईसीसी देख रही थी. पूरी जांच आईसीसी की निगरानी में हुई. बीसीसीआई की इसमें कोई भूमिका नहीं है.’’

कथित सटोरिये अग्रवाल के बारे में उन्होंने कहा ,‘‘हमने अपनी ओर से जरूरी जानकारी दे दी थी लेकिन पूरी जांच आईसीसी की एसीयू ने की.’’

आईसीसी ने मंगलवार को बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन पर 2 साल का प्रतिबंध लगा दिया. शाकिब ने सट्टेबाजों की तरफ से उनसे संपर्क की जानकारी आईसीसी को नहीं दी थी.

शाकिब ने अपनी गलती मानते हुए आईसीसी की तरफ से दी गई सजा स्वीकार की, जिसके कारण उनके 2 साल की सजा में से एक साल की सजा को घटा दिया गया. आईसीसी के मुताबिक शाकिब ठीक एक साल बाद 29 अक्टूबर 2020 को वापस क्रिकेट में लौट सकेंगे.

शाकिब के बैन के कारण भारत दौरे पर आ रही बांग्लादेशी टीम में नए कप्तान नियुक्त किए गए हैं. टी20 टीम की कप्तान मेहमदुल्लाह को दी गई है जबकि 2 टेस्ट के लिए मौमिनुल हक को कप्तान बनाया गया है.

READ SOURCE

Experience triple speed

Never miss the exciting moment of the game

DOWNLOAD