तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया ने ऐतिहासिक जीत दर्ज करने में कामयाबी की हासिल

Polkhol India

Polkhol India

Author 2019-10-06 15:10:42

तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया ने ऐतिहासिक जीत दर्ज करने में कामयाबी हासिल की है। टीम इंडिया नेऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड तोड़कर लगातार 11 घरेलू टेस्ट मैच जीत लिए हैं। इसके अतिरिक्त दक्षिण अफ्रीका ने टीम इंडिया के विरूद्ध जब भी किसी टेस्ट की पहली पारी में 400 से ज्यादा रन बनाए थे, वह मैच हिंदुस्तान जीत नहीं सका था। लेकिन विशाखापत्तनम में टीम इंडिया ने यह सिलसिला तोड़ दिया।

img

कैसी जीत रही हिंदुस्तान की
टीम इंडिया ने जीत के लिए दक्षिण अफ्रीका का 395 रन का लक्ष्य दिया था जिसका पीछा करते हुए अतिथि टीम 191 रन पर आउट हो गई व टीम इंडिया ने मैच 203 रन से जीत लिया। दक्षिण अफ्रीका के लिए दूसरी पारी में सबसे ज्यादा प्रयत्न डेन पिड्ट व सेनुरन मुथुस्वामी ने किया। दोनों ने 9वें विकेट केलिए रिकॉर्ड 91रन की साझेदारी की। आखिरी विकेट रबाडा का गिरा सेनुरन मुथुस्वामी 49 रन बनाकर नाबाद लौटे।

लगातार 11वीं घरेलू जीत
यह टीम इंडिया की लगातार 11वीं घरेलू जीत है। इससे पहले टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज का दौरा किया था जहां उसने मेजबान को 2-0 से क्लीन स्वीप किया था। इसके साथ ही टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया है। ऑस्ट्रेलिया ने दो बार लगातार अपने ही घर में 10 टेस्ट मैच जीतने का रिकॉर्ड बनाया था। पिछले दस मैचों में टीम इंडिया ने इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, अफगानिस्तान व दक्षिण अफ्रीका को हराया है।

पहले रिकॉर्ड बना रहे थे टीम इंडिया की जीत को नामुमकिन
टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की व पहली पारी 7 विकेट पर 502 रन बनाकर घोषित कर दी जिसमें मयंक अग्रवाल ने 200 व रोहित ने 176 रन की रिकॉर्ड पारियां खेली। दक्षिण अफ्रीका ने इसके जवाब में डीन एल्गर (160) व क्विटन डि कॉक (111) की शतकीय पारियों के दम पर 431 रन बनाए। यहां रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका पक्ष में जा रहे थे क्योंकि इससे पहले अतिथि टीम हिंदुस्तान के विरूद्ध पहली पारी में 400 + रन बनाकर कभी नहीं हारी थी।

रोहित व गेंदबाजों ने जगाई आस
दूसरी पारी में दो दिन से भी कम का समय बचने होने के कारण टीम इंडिया के पास दक्षिण अफ्रीका को मजबूत टारगेट देने चुनौती थी। लेकिन रोहित शर्मा ने टीम इंडिया के लिए शानादर बैटिंग की व केवल 149 गेदों में 127 रन ठोककर टीम इंडिया को मजबूती दी जिससे हिंदुस्तान का स्कोर केवल 67 ओवर में चार विकेट पर 323 रन हो गया। जिसके बाद कैप्टन विराट कोहली ने चौथे दिन का खेल समाप्त होने से कुछ देर पहले अतिथि टीम को 395 रन का टारगेट दे दिया।

चौथी पारी समेटने की चुनौती
चौथे दिन 9 ओवर के खेल में टीम इंडिया ने डीन एल्गर का विकेट लेकर दक्षिण अफ्रीका की मुश्किलें बढ़ा दीं। एल्गर को जडेजा ने आउट किया। उसके बाद पांचवे दिन के पहले सत्र में भारतीय बॉलर्स हावी रहे। इस सत्र में जडेजा ने तीन, मोहम्मद शमी ने तीन व अश्विन ने एक लेकर केवल 70 के स्कोर पर अतिथि टीम के कुल 8 विकेट गिरा दिए, जबकि नौवा विकेट गिरने में बहुत ज्यादा वक्त लगा। आखिरी दोनों विकेट मोहम्मद शमी के नाम रहे। उन्होंने पारी में कुल 5 विकेट लिए।

9वें विकेट के लिए साझेदारी
डेन पिड्ट व सेनुरन मुथुस्वामी ने 9वें विकेट लिए 70 के स्कोर के बाद बढ़िया बैटिंग की व पहले टीम की स्कोर 100 के पार कराया व टीम इंडिया के बॉलर्स को पहले सत्र में जीत से दूर रखा। दोनों ने कुछ बेहतरीन बड़े शॉट्स खेले। व लंच तक 47 रन की साझेदारी की। लंच के बाद दूसरे सत्र में दोनों ने फिर बड़े शॉट्स लगाए व पहले पिड्ट ने अपनी हाफ सेंचुरी पूरी की। 91 रन की इस साझेदारी को मोहम्मद शमी ने तोड़ा।

READ SOURCE

⚡️Fastest Live Score

Never miss any exciting cricket moment

OPEN